एस.पी. द्वारा महिला से दुष्कर्म करने के मामले में नया मोड़, सामने आए ये तथ्य

Edited By Subhash Kapoor,Updated: 05 Jul, 2022 07:48 PM

s p a new twist in the case of rape of a woman by

पंजाब पुलिस के उच्च अधिकारियों के आदेश पर गुरदासपुर मे तैनात पुलिस अधीक्षक मुख्यालय गुरमीत सिंह को मोगा से उनके निवास से मोबाईल लोकेशन के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

गुरदासपुर (विनोद): पंजाब पुलिस के उच्च अधिकारियों के आदेश पर गुरदासपुर मे तैनात पुलिस अधीक्षक मुख्यालय गुरमीत सिंह को मोगा से उनके निवास से मोबाईल लोकेशन के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। सूत्रों के अनुसार लगभग दो माह चली जांच के बाद आरोपी के विरूद्व सिटी पुलिस गुरदासपुर ने केस दर्ज किया गया।

सूत्रों के अनुसार आरोपी ने जब दीनानगर की रहने वाली महिला जिसका अपने पति के साथ झगड़ा चल रहा था, वह जब पुलिस मुख्यालय मे धक्के खा रही थी तो तब गुरमीत सिंह के संपर्क मे आई। जबकि उक्त पीडि़ता की जांच गुरमीत सिंह के पास नहीं थी। आरोपी ने उसे अपने निवास पर बुला कर उसे डरा-धमका कर उससे जब दुष्कर्म किया तो तब वह 3 माह की गर्भवती थी। आरोपी पुलिस अधीक्षक ने पीड़िता से दो बार दुष्कर्म किया। आरोपी तब पीडि़ता को आडियो तथा वीडियो कॉल कर परेशान भी करता था।

अब इस केस मे नया मोड़ यह आया है कि पीड़िता ने पहले भी किसी व्यक्ति के विरूद्व दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था। पुलिस अधीक्षक गुरमीत सिंह इस पहले हुए दर्ज केस के दम पर अपने विरूद्व कार्रवाई न करने की दलील देता था। जबकि सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार पहले केस का नए केस से किसी तरह का संबंध नही हो सकता। शिकायतकर्ता की नई शिकायत से उसके पुराने जीवन तथा चरित्र से किसी तरह का संबंध नहीं होता। 

सूत्रों के अनुसार महिला द्वारा शिकायत मे देरी करने संबंधी जांच मे पाया गया कि पीड़िता ने अपने पति तथा सुसराल के विरूद्व 20 मई को दीनानगर पुलिस स्टेशन मे केस दर्ज करवाने को प्राथमिकता दी तथा वह पति तथा ससुराल वालों के विरूद्व केस दर्ज करवाने मे भी सफल रही। सिटी पुलिस अब आरोपी गुरमीत सिंह का पुलिस रिमांड लेकर उससे पूछताछ करेगी, जिस पुलिस स्टेशन मे गुरमीत सिंह को कुर्सी दी जाती थी अब उसी पुलिस स्टेशन मे पूछताछ की जाएगी।

इस केस मे एक तथ्य यह भी सामने आया है कि पुलिस कंट्रोल रूम से पत्रकारों को प्रतिदिन पुलिस की क्राईम डायरी भेजी जाती है जिसमें जिला पुलिस गुरदासपुर के सभी पुलिस स्टेशनों मे दर्ज एफ.आई.आर. का जिक्र होता है। पंरतु तीन जुलाई 2022 को जो क्राईम डायरी कंट्रोल रूम द्वारा जारी की गई उसमे पुलिस अधीक्षक मुख्यालय आरोपी गुरमीत ङ्क्षसह के विरूद्व दर्ज केस की जानकारी नही थी। जो कई तरह के सवाल खड़े करती है।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!