दिल दा मामला है: सावधान, कहीं धोखा न दे जाए ... ये दिल

Edited By Tania pathak,Updated: 28 Dec, 2020 02:11 PM

heart be careful do not be deceived

सर्दियों में तापमान कम हो जाने के कारण हृदय रोगियों को अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए अन्यथा उनका दिल कभी भी उन्हें धोखा दे सकता है।

जालंधर (रत्ता): सर्दियों का मौसम चाहे स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत ही अनुकूल मौसम माना जाता है लेकिन सर्दियों में तापमान कम हो जाने के कारण हृदय रोगियों को अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए अन्यथा उनका दिल कभी भी उन्हें धोखा दे सकता है।

PunjabKesari

दरअसल सर्दियों के मौसम में पारा गिरने के साथ ब्लड वेसल्स तो सिकुड़ ही जाती हैं साथ ही खून की थिक्नैस भी बढ़ने लगती है जिसके कारण हृदय में रक्त का प्रवाह सही तरह से नहीं हो पाता और व्यक्ति को हार्ट अटैक आने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है।

विशेषज्ञों के मुताबिक हृदय रोगियों को सर्दियों में सबसे अधिक सजगता सुबह व शाम के समय बरतने की जरूरत इसलिए होती है क्योंकि विभिन्न अध्ययनों से पता चला है कि सर्दियों में दिल का दौरा पड़ने के 50% से अधिक मामले सुबह के समय होते हैं। 

PunjabKesari

टैगोर हार्ट केयर के वरिष्ठ कार्डियक सर्जन डॉक्टर अश्वनी सूरी के मुताबिक हृदय रोगियों की नाड़ियों में ब्लॉकेज की वजह से उनके हृदय को पहले ही रक्त की सप्लाई कम हो रही होती है और ऐसे में ठंड से जब शरीर के अंदर की नाड़ियां सिकुड़नी शुरू हो जाती हैं तो हृदय को रक्त की सप्लाई और भी कम हो जाती है जोकि कभी भी खतरनाक साबित हो सकती है। इसी के साथ सर्दियों में पसीना ना आने की वजह से शरीर मैं से साल्ट बाहर नहीं निकलता और शरीर में ही जमा होता है जिससे हृदय की मांसपेशियों पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है।

सर्दियों में हृदय रोगी इन बातों का रखें ध्यान

*ठंडे की बजाय गुनगुने पानी से नहाए।
*शरीर को गर्म कपड़ों से ढक कर रखें।
*खाने में नमक की मात्रा कम कर दें।
*अधिक कैलोरी एवं वसा युक्त भोजन का परहेज करें।
*सुबह सवेरे बाहर सैर करने की बजाय घर में ही सैर करें।
*शराब एवं धूम्रपान का परहेज करें।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!