दागी कर्मचारियों में मची भगदड़, जिला स्तरीय सिविल अस्पताल पर विजिलेंस ने की दबिश

Edited By Urmila, Updated: 14 May, 2022 11:00 AM

vigilance cracks down on district level civil hospital

स्थानीय जिला स्तरीय सिविल अस्पताल में मरीजों की काटी जाने वाली पर्ची को लेकर धांधली सामने आती नजर आ रही है। इसकी शिकायत शहर निवासी की तरफ से करने उपरांत इसकी जांच विजिलेंस की तरफ...

तरनतारन (रमन‌): स्थानीय जिला स्तरीय सिविल अस्पताल में मरीजों की काटी जाने वाली पर्ची को लेकर धांधली सामने आती नजर आ रही है। इसकी शिकायत शहर निवासी की तरफ से करने उपरांत इसकी जांच विजिलेंस की तरफ से शुरू कर दी गई है। विजिलेंस ने सिविल अस्पताल में छापेमारी करते हुए पर्ची काउंटर का सारा रिकार्ड जब्त करते हुए जांच करनी शुरू कर दी है जिसके बाद सिविल अस्पताल के दागी कर्मचारियों को भागदौड़ पड़ गई हैं। जिक्रयोग्य है कि इस जांच को लेकर सिवल सर्जन की तरफ से पर्ची काटने वाले स्टाफ की बदली कर दी गई है।

जानकारी अनुसार जिला स्तरीय सिविल अस्पताल में रोजमर्रा की करीब 800 मरीज डाक्टर की सलाह लेने के लिए पहुंचते हैं। सूत्रों अनुसार पर्ची काउन्टर पर बैठे स्टाफ की तरफ से मरीजों की काटी जाने वाली पर्ची में धांधली पाई गई है जिस सम्बन्धित मरीज से 10 रुपए पर्ची वसूलने के बाद जब मरीज दूसरी बार अस्पताल में आता था तो कर्मचारी की तरफ से कंप्यूटर में पुरानी पर्ची के सीरियल नंबर को बिना छेड़छाड़ किए तारीख बदलते हुए मरीज से दोबारा 10 रुपए वसूल कर लिए जाते थे।

इतना ही नहीं सरकार की तरफ से पांच साल की उम्र तक की बच्ची, एक साल तक के बच्चे, गर्भवती महिलाएं और सीनियर सिटीजन का इलाज बिना 10 रुपए की पर्ची कटवाए किए जाने का ऐलान किया गया है। इस अस्पताल के स्टाफ की तरफ से सभी से 10 रुपए की पर्ची के हिसाब के साथ धड़ाधड़ पैसे वसूल किए जा रहे हैं। इस वसूली सम्बन्धित इकठ्ठा किए जाने वाले रुपए अस्पताल प्रशासन की मिलीभगत के साथ जेबों में डाले जा रहे हैं। इस गोलमाल का पर्दा एक शहर निवासी की तरफ से उठाते हुए इसकी शिकायत बीते सोमवार को सिविल सर्जन डा. सीमा को की गई थी। 

यह मामला विजिलेंस के ध्यान में लाया गया जिसके बाद विजिलेंस टीम की तरफ से सिविल अस्पताल में सुबह से लेकर शाम 4 बजे तक काटी गई पर्ची और कंप्यूटर का डाटा कब्जे में लेते हुए जांच शुरू कर दी गई है। आने वाले दिनों में इस किए जा रहे घपले को कितने वर्षों से चलाया जा रहा था, यह जांच के बाद ही पता लगेगा। इतना ही नहीं सिविल अस्पताल में इस तरह के कुछ और खुलासे होने की भी संभावना जताई जा रही है।

सूत्रों से यह पता लगा है कि विजिलेंस की शुरूआती जांच में पर्ची काउंटर पर तैनात कर्मचारियों की तरफ से घपला किया जाना पाया गया है, जिसकी जांच और गहरे स्तर पर विजिलेंस की तरफ से शुरू कर दी गई है। इस सम्बन्धित जब सिविल सर्जन डा. सीमा के साथ बात की तो उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति की तरफ से उनको लिखित शिकायत दी गई थी, जिसके बाद इस मामले की जांच शुरू करवाई गई। शिकायतकर्ता ने शिकायत विभाग के उच्च आधिकारियों को भी की थी जिसके बाद विजिलैंस की तरफ से गुरुवार और शुक्रवार दो दिन दस्तक देते हुए जांच शुरू की गई है। फिलहाल काउंर पर तैनात स्टाफ की बदली कर दी गई है।

किसी को नहीं बख्शा जाएगा
एस.एस.पी विजिलेंस अमृतसर डी.एस. ढिल्लों ने बताया कि इस जांच में जो कोई भी दोषी पाया गया उसे बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पताल के अन्य मामलों की भी जांच करवाने की तैयारी की जा रही है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Match will be start at 24 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!