आम आदमी पार्टी की जीत से हिल सकता है पंजाब का वार्षिक बजट, जानें कैसे

Edited By Urmila,Updated: 18 Mar, 2022 03:06 PM

due to the increase in the number of former mlas taking pension in punjab

पंजाब में पैंशन लेने वाले पूर्व विधायकों की कतार लंबी हो गई है। चाहे ही पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की तरफ से पैंशन न लेने का ऐलान कर दिया गया है परन्तु राज्यों में आम आदमी पार्टी ...

चंडीगढ़: पंजाब में पैंशन लेने वाले पूर्व विधायकों की कतार लंबी हो गई है। चाहे ही पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की तरफ से पैंशन न लेने का ऐलान कर दिया गया है परन्तु राज्यों में आम आदमी पार्टी की झाड़ू फेर जीत के बाद कई प्रमुख राजनीतिक नेता पूर्व विधायकों वाली कतार में आ गए हैं। जानकारी मुताबिक इस बार की विधान सभा के गठन से पहले 245 पूर्व विधायकों को पैंशन मिल रही थी परन्तु अब बहुत से विधायक और मंत्री मतदान हार गए हैं।

यह भी पढ़ेंः CM बनने के बाद पहली बार संगरूर पहुंचे भगवंत मान का ऐसे हुआ स्वागत (तस्वीरें)

इस तरह 80 के करीब अन्य नए पूर्व विधायकों को पैंशन मिलनी शुरू हो जाएगी। पूर्व विधायकों की संख्या बढ़ने के कारण पैंशन का वार्षिक बजट 30 करोड़ के आंकड़े को पार कर जाएगा।

यह भी पढ़ेंः होली के त्योहार पर भगवंत मान ने किसानों की जिंदगी में भरा खुशियों का रंग, किया बड़ा ऐलान

बताने योग्य है कि पंजाब राज विधान मंडल मैंबर्ज एक्ट 197 और पंजाब राज विधान मंडल मैंबर्ज नियम 1984 की धारा 3(1) अधीन पैंशन तय की जाती है। एक बारी विधायक चुने जाने के बाद में जीवन भर के लिए पैंशन का हक मिल जाता है। मौत होने के बाद परिवार को फैमिली पैंशन मिलनी शुरू हो जाती है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


 

Related Story

Trending Topics

India

97/2

12.2

Ireland

96/10

16.0

India win by 8 wickets

RR 7.95
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!