शहर में भूमि माफिया सक्रिय, फर्जी दस्तावेजों से कर रहे लोगों को गुमराह

Edited By Kamini,Updated: 07 Dec, 2021 06:08 PM

land mafia active in the city misleading people with fake documents

कीमती सरकारी जमीनों का उचित रखरखाव न होने के कारण शहर में सक्रिय भूमि माफिया किस कधर फर्जी दस्तावेजों की मदद से अथवा भोले भाले लोगो को गुमराह कर बेचने का खेल खेल रहे है उसका एक और मामला सहमने आया है। डी.सी. को दी शिकायत में पीड़ित ने आरोप लगाया की...

लुधियाना ( पंकज ): कीमती सरकारी जमीनों का उचित रखरखाव न होने के कारण शहर में सक्रिय भूमि माफिया किस कधर फर्जी दस्तावेजों की मदद से अथवा भोले भाले लोगो को गुमराह कर बेचने का खेल खेल रहे है उसका एक और मामला सहमने आया है। डी.सी. को दी शिकायत में पीड़ित ने आरोप लगाया की सवतंत्र नगर में पड़ी सरकार की जमीन को एक महिला के नाम की बता प्रापर्टी डीलर ने उसके साथ धोखा किया है। प्रॉपर्टी डीलर ने न सिर्फ प्लाट का सौदा करवा कमीशन भी वसूल ली बल्कि पटवारखाने से सचाई पता लगने पर आरोपियों ने रकम वापिस करने की जगह उल्टा उसे धमकाना शुरू कर दिया। पीड़ित का आरोप है की कई एकड़ सरकारी जमीन को इसी तरह कई लोगो को बेचा जा चुका है लेकिन प्रशासन चुप्पी साधे हुए है।

यह भी पढ़ेंः केजरीवाल आज फिर 'मिशन पंजाब' पर, CM चन्नी को बनाया निशाना

पीड़ित सुमित कुमार निवासी बस्ती जोधेवाल ने डी.सी. वरिंदर शर्मा को शिकायत देते हुए बताया कि उसने अपना घर बनाने के लिए एरिया के प्रॉपर्टी डीलर से सम्पर्क किया था। प्रापर्टी डीलर ने सवतंत्र नगर में खाली पड़ी जमीन में से 100 गज का एक प्लाट दिखाते हुए बताया की इसकी मालिक एक महिला है और वह ही प्लाट की रजिस्ट्री करवा कर देंगी।  इसके बाद उसने 5 लाख रुपए में प्लाट का सौदा तय करते हुए  50 हजार रुपए बतौर बयाना दे दिया। डीलर ने उससे 10 हजार रुपए अपनी कमीशन वसूल कर उसे आश्वाशन दिया की तय समय पर वो प्लाट की रजिस्ट्री उसे करवा कर देगा। कुछ दिनों बाद ही उसे मुहल्ले के लोगों ने जानकारी दी की उक्त प्लाट किसी प्राइवेट शख्स की नहीं बल्कि सारी जगह प्रिवेंशन गवर्नमेंट के नाम है। कई एकड़ इस कीमती जमीन पर इसी तरह न सिर्फ कब्जे किए जा रहे है बल्कि मासूम लोगो को लूटने की नियत से एरिया में सक्रिय भूमि माफिया इसे उन्हें बेच अपनी जेबे भर रहा है। ज्यादातर जमीन पर नजायज कब्जे होने के बावजूद प्रशासन इसे बचाने की तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

यह भी पढ़ेंः कैप्टन के साथ गठजोड़ को लेकर सुखदेव ढींढसा ने कही यह बात

प्लाट की मालकी  चेक करने के लिए उसने ब्याने में डाले गए खसरा नंबरों संबंधी जानकारी लेने के लिए एरिया तहसीलदार को एप्लिकेशन दी, जिस पर अपनी रिपोर्ट करते हुए कुलियावाल के पटवारी ने स्पष्ट किया कि उक्त खसरा नंबर सरकार की मालकियत है। उसने सौदा करवाने वाले डीलर से जब सम्पर्क किया और अपने रुपए वापिस करने की अपील की तो उन्होंने उसे धमकाना शुरू कर दिया। पीड़ित ने इसकी शिकायत पुलिस के भी की हुई है। हैरानी की बात है की शहर में पड़ी सरकार की कई एकड़ जमीन को पिछले लम्बे समय से इसी तरह माफिया हड़पने में सक्रिय है लेकिन प्रशासन अपनी जमीन को बचाने की तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है !

 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!