प्रिंसीपलों को सिंगापुर भेजने का मामला, मुख्यमंत्री ने पूर्व CM चन्नी को लेकर 'कांग्रेस' पर कसा तंज

Edited By Urmila,Updated: 12 Mar, 2023 10:29 AM

the matter of sending principals to singapore

मुख्यमंत्री भगवंत ने शनिवार को पंजाब विधानसभा में बजट बहस के दौरान कांग्रेस पर तीखा निशाना साधा।

चंडीगढ़/जालन्धर: मुख्यमंत्री भगवंत ने शनिवार को पंजाब विधानसभा में बजट बहस के दौरान कांग्रेस पर तीखा निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को कटघरे में खड़ा किया तो पूर्व वित्त मंत्री का नाम लिए बिना करारा व्यंग्य किया। मान ने कहा कि कांग्रेस पूछती है कि स्कूल प्रिंसीपलों को सिंगापुर क्यों भेजा, अमरीका क्यों नहीं। मान ने कहा कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के अंतिम महीनों के दौरान उनके प्रिंसीपल यानी पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह अमरीका गए थे। वह पीएच.डी. करने गए थे। उनसे पूछेंगे कि वह क्या सीख कर आए हैं, उसके बाद प्रिंसीपलों को अमरीका भी भेज देंगे। 

मान ने कहा कि चन्नी का थीसिस कांग्रेस के चढ़ाव व उतराव पर था, जिसके वह कारण तलाश रहे थे जबकि असल में एक कारण तो वह खुद थे। गरीबों का नाम लेकर उनके भांजे-भतीजे के घर धन मिला। मान ने कहा कि चन्नी ने अब भी झूठ बोला कि गुरु रविदास जी के कीर्तन में जाना था लेकिन भगवंत मान ने नाम ले लिया है तो रुक गए लेकिन हकीकत यह है कि 3 दिन पहले ही उनका लुकआऊट नोटिस जारी हो गया था।

भाजपा नेता अश्वनी शर्मा पर साधा निशाना

मान ने भाजपा विधायक अश्वनी शर्मा पर भी निशाना साधा और कहा कि भाजपा वाले कहते हैं कि केंद्र से मांगते भी हो और बुराई भी करते हो तो क्या पंजाब केंद्र से भीख मांग रहा है? पंजाब केवल हक मांग रहा है। केंद्र का फर्ज है कि बिना मांगे दे दे। जी.एस.टी. में भी हिस्सेदारी मांगनी पड़ती है। व्यापारियों को अभी तक जी.एस.टी. समझ नहीं आई।  

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अप्रत्यक्ष रूप से प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि कहा कि अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बिजली मुफ्त कर दी। इलाज मुफ्त किया और मुफ्त गुणवत्ता वाली पढ़ाई की सुविधा दी लेकिन बड़े साहब कहते हैं कि यह फ्री की रेवड़ी बांटने वाले हैं। मान ने कहा कि अगर यह फ्री की रेवड़ी है तो बड़े साहब से पूछना चाहता हूं कि 15 लाख का पापड़ किसने बेचा था। 2 करोड़ नौकरियों की बात किसने कही? देश के कई संस्थान बेच दिए। केंद्र सरकार ने पंजाब की झांकी बाहर कर दी। कोयला श्रीलंका से घूम कर लाने को कहा। 

मान ने कहा कि यह बजट गरीबों के लिए है। सरकार ने मोहल्ला क्लीनिक उन इलाकों में खोलने की पहल की है, जहां गरीब लोग रहते हैं। इसी कड़ी में गांवों में मैरिज पैलेस जैसी सुविधा देने की है। मान ने कहा कि महलकलां के अधीन एक गांव में मैरिज पैलेस है। यहां अनुसूचित जाति के लिए 2 हजार, सामान्य वर्ग के लिए 5 हजार रुपए किराया रखा है। पंजाब सरकार गांवों में ऐसा ही आइडिया लाना चाहती है, जहां गांव के लोग कार्यक्रम कर सकें। मान ने कहा कि सरकार ने बजट में कोई वर्ग नहीं छोड़ा है। 

पूर्व वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल पर कसा तंज

 मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि वित्त मंत्री हरपाल सिंह चीमा ने शानदार बजट पेश किया है। इस पर विपक्ष ने कहा कि उन्होंने अच्छी ट्रेनिंग ली। इस पर भगवंत मान ने पूर्व वित्त मंत्री का नाम लिए बिना जवाब देते हुए कहा कि ट्रेनिंग मेरी नहीं थी। ट्रेनिंग का आगाज तो असल में नीले वाले की तरफ से हुआ, फिर वह पीले वाले की तरफ आए। इसके बाद सफेद रहे और आजकल भगवा हैं। पार्टियां कई बदली लेकिन शेयर वही है। इससे पहले एक व्यक्ति 9 बजट पेश कर गया। कांग्रेस वाले बजट पर बोल रहे हैं लेकिन तरस आता है क्योंकि उन्होंने तो 5 साल बजट पेश नहीं किया, वह तो एक वित्त मंत्री को डैपुटेशन पर लाए थे। वह 5 बजट पेश करके अपने रास्ते हो लिया और पंगा कांग्रेस को डाल गया, अब कांग्रेस जवाब देती रहे। मान ने कहा कि विधायक राजा वडिंग बोलते भी रहे कि वित्त मंत्रालय न दो लेकिन कोई माना नहीं। पूर्व मंत्री सुखजिंद्र रंधावा ने भी खूब कहा कि हम टकसाली हैं लेकिन वित्त मंत्रालय देने वाले ने परवाह नहीं की। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!