जग्गू भगवानपुरिया के नाम पर फिरौती मांगने वाला चढ़ा पुलिस के हत्थे

Edited By Urmila, Updated: 17 Jun, 2022 04:25 PM

arrested for demanding ransom in the name of jaggu bhagwanpuria

पुलिस ने फतेहगढ़ चूड़ियां नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष सुरिंदर कुमार शिंदी से जग्गू भगवानपुरिया के नाम पर फिरौती मांगने वाले एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया...

बटाला (बेरी):  विगत दिनों फतेहगढ़ चूड़िया नगर कौंसिल के पूर्व अध्यक्ष सुरिन्द्र कुमार शिंदी से जग्गु भगवानपुरिया के नाम पर फिरौती की मांग करने वाले व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। 

इस संबंधी पुलिस लाईन बटाला में आयोजित प्रैस कान्फ्रैंस को सम्बोधित करते हुए एस.पी गुरप्रीत सिंह ने बताया कि विगत 11 जून को नगर कौंसिल फतेहगढ़ चूड़िया के पूर्व अध्यक्ष सुरिन्द्र कुमार शिंदी पुत्र ज्ञान चंद निवासी फतेहगढ चूड़ियां को एक व्यक्ति ने फोन करके उससे पांच लाख रुपए की फिरौती देने की मांग की थी और फिरौती न देने पर उसके लड़के का अपहरण करने संबंधी धमकी दी थी जिस संबंधी पुलिस द्वारा पुलिस स्टेशन फतेहगढ़ चूड़िया में मुकदमा नम्बर 57 विभिन्न धाराओं तहत दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी गई। 

उन्होंने कहा कि एस.एस.पी बटाला राजपाल सिंह संधू के दिशा निर्देशों तहत एस.पी पी.बी.आई बटाला हरजीत सिंह धालीवाल व डी.एस.पी फतेहगढ़ चूड़िया रिपुतापन सिंह के नेतृत्व में टैक्रीकल स्पोर्ट की सहायता से मामले की जांच की गई। उन्होंने कहा कि 16 जून को पुलिस स्टेशन फतेहगढ़ चूडिया के एस.एच.ओ प्रभजोत सिंह, एस.आई जतिन्द्र सिंह, ए.एस.आई राजबीर सिंह ने पुलिस पार्टी सहित अनाज मंडी फतेहगढ़ चूड़िया के समीप सड़क से एक नौजवान को शक के आधार पर पकडकर जब उससे पूछताछ की तो उसने अपना नाम अशीष कुमार उर्फ कालू पुत्र नरेश कुमार निवासी स्माईल इंकलेव पुलिस स्टेशन सदर अमृतसर हाल कश्मीर गार्डन पुलिस स्टेशन सदर अमृतसर बताया। 

उन्होंने कहा कि जब पुलिस द्वारा उक्त नौजवान से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वर्ष 1984 में उसके पिता नरेश कुमार, सुरिन्द्र कुमार शिंदी के साथ उसकी ट्रांसपोर्ट में मुंशी का काम करते थे। उसने बताया कि फरवरी 2022 में उसके पिता ने सुरिन्द्र कुमार शिंदी से ट्रांसपोर्ट के काम में हिस्सा डाला था और मुंशी का काम भी करते थे लेकिन सुरिन्द्र कुमार शिंदी ट्रांसपोर्ट के काम में न तो स्वयं दिलचस्पी रखता था और न ही काम में सहयोग करता था जिस कारण उन्हें ट्रांसपोर्ट में उन्हें बहुत नुक्सान हो गया था और उसका सारा परिवार बहुत तनाव में रहने लगा था। उसने बताया कि इसी के चलते उसके पिता को पैरालाईज का अटैक भी हुआ था और जब उन्होंने इस संबंधी सुरिन्द्र कुमार को बताया तो उसने उनकी कोई सहायता नहीं की बल्कि हमें परेशान करना शुरू कर दिया जिसके चलते उसने 11 जून को फोन करके उससे फिरौती की मांग की थी। एस.पी गुरप्रीत सिंह ने बताया कि पुलिस ने उक्त नौजवान को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है और इससे अन्य जानकारी मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि उक्त व्यक्ति का जग्गु भगवानपुरिया गैंग के साथ कुछ लेना देना नहीं है। 

क्या कहना है सुरिन्द्र कुमार शिंदी का?
उक्त मामले संबंधी जब सुरिन्द्र कुमार शिंदी से बाचतीत की गई तो उन्होंने कहा कि अशीष कुमार के तपा नरेश कुमार उनके पास मुंशी का काम कर रहे है और उनका ट्रांसपोर्ट काम में कोई हिस्सा नहीं है। उन्होंने कहा कि उनसे फिरौती मांगने काम अकेले अशीष कुमार का नहीं बल्कि इसके साथ कुछ अन्य व्यक्ति भी जुड़े हो सकते है जिनकी तालाश की जाना बहुत जरूरी है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!