माता चिंतपूर्णी का मेला कल सेः श्रद्धालुओं को दी ये खास Guidelines, ट्रैफिक भी होगा Divert

Edited By Vatika,Updated: 28 Jul, 2022 03:23 PM

these special guidelines were given to the devotees of mata chintpurni

29 जुलाई से शुरू होने जा रहे माता चिंतपूर्णी मेले को लेकर डी.सी. संदीप हंस की ओर से पंजाब के समूह डिप्टी कमिश्नरों व एस.एस.पी. को पत्र भेजकर कहा गया है

होशियारपुर(जैन): 29 जुलाई से शुरू होने जा रहे माता चिंतपूर्णी मेले को लेकर डी.सी. संदीप हंस की ओर से पंजाब के समूह डिप्टी कमिश्नरों व एस.एस.पी. को पत्र भेजकर कहा गया है कि भार ढोने वाले वाहनों ट्रक, टैंपो, टाटा एस आदि पर मेले में न जाने के बारे में श्रद्धालुओं को जागरूक किया जाए। पत्र में उन्होंने यह भी कहा कि कमर्शियल वाहनों पर श्रद्धालुओं को फट्टे आदि लगाकर बिठाया जाता है, जिससे जहां कानून का उल्लंघन होता है, वहीं किसी गंभीर हादसे का खतरा भी बना रहता है। पत्र में भार ढोने वाले वाहनों पर रोक को लेकर हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों की ओर से जिला प्रशासन होशियारपुर को की गई प्रार्थना का भी जिक्र किया गया है। डी.सी. ने अपील करते हुए कहा कि श्रद्धालु माता चिंतपूर्णी मेले में जाने के दौरान कमर्शियल वाहनों का प्रयोग न करें।

संदीप हंस ने और जानकारी देते हुए कहा कि माता चिंतपूर्णी मेले में लंगर के दौरान डी.जे. के प्रयोग पर मनाही रहेगी, परंतु छोटे साऊंड सिस्टम के माध्यम से कम आवाज पर गीत चलाए जा सकते हैं। उन्होंने लंगर कमेटियों से अपील करते हुए कहा कि कम आवाज में ही मर्यादा के अनुसार धार्मिक गीत चलाए जाएं व ध्वनि प्रदूषण पैदा करने वाले डी.जे. का प्रयोग बिल्कुल न किया जाए। उन्होंने कहा कि लंगर लगाने के दौरान सफाई व्यवस्था बरकरार रखना भी यकीनी बनाया जाए, ताकि वातावरण दूषित न हो सके। उन्होंने यह भी अपील की कि निर्विघ्न यातायात के लिए संगठनों की ओर से सड़क पर आकर लंगर न वितरित किया जाए व लंगर के दौरान बैन प्लास्टिक का प्रयोग न किया जाए।

31 जुलाई, 2, 3 व 4 अगस्त को रहेगा ट्रैफिक डायवर्जन
डी.सी. ने बताया कि श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 31 जुलाई, 2, 3 व 4 अगस्त को ट्रैफिक का डायवर्जन (अलग रूट) किया जाएगा, जिसके अंतर्गत श्रद्धालु होशियारपुर से गगरेट-मुबारकपुर से होते हुए माता चिंतपूर्णी जाएंगे व वापसी माता चिंतपूर्णी से मुबारकपुर-अंब-ऊना होते हुए होशियारपुर होगी। उन्होंने कहा कि लंगर लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी है, इसलिए लंगर कमेटियों की ओर से यह रजिस्ट्रेशन एस.डी.एम. कार्यालय होशियारपुर से करवाई जा सकती है।

जिला प्रशासन की ओर से किए जा रहे पुख्ता प्रबंध
उन्होंने कहा कि माता चिंतपूर्णी मेले को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से पुख्ता प्रबंध यकीनी बनाए जा रहे हैं, जिसके अंतर्गत श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मोबाइल शौचालय आदि का प्रबंध करने के अलावा 24 घंटे स्वास्थ्य सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। उन्होंने लंगर कमेटियों को सफाई व्यवस्था बरकरार रखने की अपील करते हुए कहा कि भारत सरकार व पंजाब सरकार की ओर से सिंगल यूज प्लास्टिक बैन किया गया है, इसलिए लंगर के दौरान प्लास्टिक का प्रयोग न किया जाए।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!