सरकार की मजदूरों को स्मार्ट बनाने की तैयारी, इस एप जरिए ले सकेंगे लाभ

Edited By Urmila,Updated: 20 May, 2022 10:46 AM

government s preparation to make workers smart

पंजाब सरकार ने राज्य के मजदूरों को स्मार्ट बनाने की तैयारी शुरू कर ली है। सरकार ने मजदूरों के लिए एक मोबाइल एप तैयार करवाया...

जालंधर (नरेंद्र जग्गा): पंजाब सरकार ने राज्य के मजदूरों को स्मार्ट बनाने की तैयारी शुरू कर ली है। सरकार ने मजदूरों के लिए एक मोबाइल एप तैयार करवाया है। इस एप में मजदूर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे और सरकार द्वारा मजदूरों के कल्याण के लिए जारी की जाती वित्तीय योजनाओं की न सिर्फ जानकारी हासिल कर सकेंगे, बल्कि इसी मोबाइल एप से योजनाओं का फायदा लेने के लिए आवेदन भी कर सकेंगे। 
राज्य के श्रम विभाग ने विभिन्न ठेकेदारों से भी अपील की है कि वे उनके पास काम करते मजदूरों का अधिकाधिक पंजीकरण करवाएं। सरकार के इस कदम से पंजाब में मजदूरों की संख्या भी स्पष्ट हो सकेगी।

पंजाब सरकार अभी तक राज्य के मजदूरों का रजिस्ट्रेशन पूरा नहीं कर सकी है। अभी तक सिर्फ साढ़े पांच लाख मजदूरों का पंजीकरण ही हो सका है जबकि मजदूरों की संख्या 20 लाख से अधिक है। कार्यालयों में पंजीकरण के अतिरिक्त विभाग ने विभिन्न नगरों के चौक-चौराहों में बने ‘लेबर चौक’ पर सुबह जाकर रजिस्ट्रेशन का कार्य भी शुरू किया हुआ है। इसके बावजूद विभाग को वांछित परिणाम नहीं मिल रहे।

श्रम विभाग ने अब मजदूरों के पंजीकरण के लिए मोबाइल एप ‘पंजाब रजिस्टर्ड उसारी कीर्ति सेवावां’ तैयार किया है जिसको इसी सप्ताह में शुरू कर दिए जाने की संभावना है। पंजाबी और अंग्रेजी भाषा में तैयार इस एप में मजदूरों के लिए सरकार द्वारा घोषित तमाम कल्याण योजनाएं, पंजीकरण फार्म के अतिरिक्त किसी भी योजना का फायदा लेने के लिए आवेदन करने का फार्म भी शामिल हैं। इस संबंध में श्रम विभाग के सचिव सुमेर सिंह गुर्जर का कहना था कि वैसे तो मजदूरों के पास स्मार्ट फोन भी है परन्तु ठेकेदारों को भी इस बात के लिए कहा जा रहा है कि वे अपने स्मार्ट फोन से मजदूरों का पंजीकरण करें। किसी भी दुर्घटना पर मजदूरों को वित्तीय फायदा श्रम विभाग द्वारा ही दिया जाता है, बशर्ते मजदूर विभाग के पास पंजीकृत हो।

विभाग से ये मिलेंगी सुविधाएं
-मजदूरों की लड़कियों की शादी पर 31,000 रुपए की शगुन योजना। 
-दुर्घटना में मजदूर की मौत पर 4 लाख रुपए, गंभीर जख्मी होने पर 2 लाख रुपए। 
-डेढ़ लाख रुपए का मैडीकल बीमा। 
-मजदूर परिवार में किसी की मौत होने पर अंतिम संस्कार के लिए आॢथक सहायता।
-मजदूरों के बच्चों के लिए वजीफा योजना।
-छुट्टियों में किसी धार्मिक अथवा अन्य स्थान पर घूमने जाने के लिए सहायता राशि देना शामिल है।
-मजदूर अथवा उनके पारिवारिक सदस्य की किसी सर्जरी पर 50,000 रुपए तक आर्थिक सहायता व अन्य छुटपुट बीमारियों पर आर्थिक सहायता दी जाती है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!