फर्जी सिम कार्ड बेचने वाले डिस्ट्रीब्यूटरों व Agent के खिलाफ पुलिस का बड़ा Action

Edited By Vatika,Updated: 26 May, 2023 10:41 AM

big action against fake distributor

यह जानकारी डी.जी.पी. पंजाब गौरव यादव ने एक बयान जारी करके दी।

चंडीगढ़: नकली दस्तावेजों के जरिए सिम कार्ड जारी करने का मामला सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बन गया है, जिसे रोकने के लिए पंजाब पुलिस ने नकली पहचान/दस्तावेजों का प्रयोग कर जारी किए 1.8 लाख से अधिक सिम कार्ड्स को ब्लॉक करवा दिया है। यह जानकारी डी.जी.पी. पंजाब गौरव यादव ने एक बयान जारी करके दी।

पंजाब पुलिस के आंतरिक सुरक्षा विंग द्वारा दूरसंचार विभाग (डी.ओ.टी.) के सहयोग से पहचान के नकली सबूतों के आधार पर सिम कार्ड बेचने वाले डिस्ट्रीब्यूटरों/एजेंटों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई शुरू की है, क्योंकि ज्यादातर साईबर अपराधों और देश विरोधी कार्रवाईयों को नकली दस्तावेजों पर या तीसरे पक्ष के नामों का प्रयोग कर जारी किए मोबाइल नंबरों के जरिए अंजाम दिया जाता है। डी.जी.पी. गौरव यादव ने बताया कि नकली सबूतों के आधार पर सिम कार्ड बेचने वाले प्वाइंट ऑफ सेल्ज डिस्ट्रीब्यूटरों/एजैंटों व अन्य लोगों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस टीमों ने नकली दस्तावेजों पर सिम कार्ड्स की बिक्री में शामिल ऐसे 17 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा राज्यभर में गत 3 दिन में भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 465, 467 और 471 के अंतर्गत 52 एफ.आई.आर. दर्ज की गई हैं।

स्पैशल डी.जी.पी. आंतरिक सुरक्षा आर.एन. ढोके ने बताया कि उन्होंने दूरसंचार विभाग और दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के साथ कई बैठकें कीं, जिसके उपरांत यह कार्रवाई आरंभ की गई। उन्होंने कहा कि इस संबंधी आई.जी. काऊंटर इंटैलीजैंस राकेश अग्रवाल को नोडल आफिसर बनाया गया है और नकली दस्तावेजों के द्वारा जारी किए सिम कार्ड्स की पहचान करने के लिए मुहिम जारी है। उन्होंने कहा कि एक मामले में नकली दस्तावेजों का प्रयोग कर एक ही फोटो के साथ नाम बदलकर 500 के करीब सिम कार्ड जारी किए गए हैं। स्पैशल डी.जी.पी. ने पंजाबभर के रिटेलर्स को अपने ग्राहक को जानो (के.वाई.सी.) नियमों की पालना न करने की सूरत में सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी। उन्होंने कहा कि काऊंटर इंटैलीजैंस विंग की विशेष टीमें जिला पुलिस के साथ तालमेल कर उन सिम कार्ड रिटेलरों की पहचान कर रही हैं, जिन्होंने पहचान के एक ही सबूत के साथ अलग-अलग मोबाइल फोन नंबर जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि वह ऐसे एजैंटों को ब्लैकलिस्ट करने के लिए दूरसंचार अथॉरिटी के समक्ष मुद्दा उठाएंगे। पुलिस द्वारा पहचान के नकली सबूतों के द्वारा जारी किए गए इन सिम कार्ड्स के असली उपभोक्ता की भी जांच की जा रही है।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!