प्रशांत किशोर बेहद चालबाज सत्ता का दलाल और बड़ा राजनीतिक ठग है, पंजाब के लोग रहें सुचेतः बीर दविंदर सिंह

Edited By Mohit,Updated: 07 Jun, 2020 08:58 PM

bir davinder singh

जैसे ही साल 2022 के आम चुनाव पास आ रहे हैं वैसे ही कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को प्रशांत किशोर.........

पटियालाः जैसे ही साल 2022 के आम चुनाव पास आ रहे हैं वैसे ही कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को प्रशांत किशोर की याद सताने लगी है। क्योंकि प्रशांत किशोर की नाट-मंडली ने ही 2017 के आम चुनाव के समय पंजाब के लोगों को धोखे में रखकर, सारे पंजाब के लगभग हर वर्ग को ठग लिया था। बाद में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने एक भी चुनाव वचन पूरा नहीं किया। कैप्टन अमरेन्द्र सिंह पंजाब के लिए बेहद झूठा मुख्मंत्री साबित हुआ है जो लोगों से किए अपने हर वादों को पूरा नहीं करता। पंजाब के लोगों को मूर्ख बनाने में, प्रशांत किशोर ही एक धोखे के रुप में, 2017 के चुनावों में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह का बड़ा सूत्रधार बना था। प्रशांत किशोर पैसों के सूटकेस लेकर अपनी नाट-मंडली सहित चुनावों से पीछे चलता बना, लेकिन उस द्वारा मारी गई पंजाब से सामूहित ठगी, पिछले तीन सालों से सारा पंजाब भोग रहा है। 

भारत में इस वक्त प्रशांत किशोर सत्ता का सबसे बड़ा दलाला और राजनीतिक ठग है। इसकी नाट-मंडली का आकार काफी बड़ा है, यह नाट-मंडली भारत को ठगने वाली ईस्ट इंडिया कंपनी का दूसरा रूप है। इसकी अपनी कोई भी विचारधारा नहीं है, इसका एकमात्र मकसद सिर्फ पैसा है, इस मकसद के लिए यह बड़े राजनीतिक सौदे मारता है, चतुराई इसका व्यापार है। 2022 के मद्देनजर इसने बड़ी ठगी मारने के लिए कसरत शुरु कर दी है।

चर्चा तो यह भी है कि कांग्रेस पार्टी में और पंजाब कैबिनेट में पिछले दिनों जो आबकारी नीति और अवैध शराब की तस्करी को लेकर जो बवाल उठा था, उसको शांत करने के लिए भी कैप्टन ने प्रशांत किशोर का नाम ही इस्तेमाल किया था। कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने रूठे हुए वजीरों और कांग्रेस के बगावती सुर में बोलने वाले विधायकों को भरोसे में लेकर यह कह कर शांत किया है कि अवैध साधनों के जरिए जो पैसे इकट्ठे किए जा रहे हैं उसमें से 300 करोड़ का भुगतान तो केवल प्रशांत किशोर को ही करना है। पिछले चुनावों में भी उसको इतनी ही बड़ी राशि का भुगतान किया गया था, तभी आप एम.एल.ए. और वजीर बने बैठे हो। सूत्रों से पता तो यह भी लगा है कि मुख्यमंत्री ने इस सिलसिले में कांग्रेस हाई कमांड, आल इंडिया कांग्रेस कमेटी और पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के खर्चों का हवाला भी दिया है। सुना है कि कैप्टन ने बड़े गुस्से से इन साथियों को कहा कि मैं आगामी चुनावों का खर्चा और कांग्रेस के खर्चे, अपना मोती महल बेचकर नहीं देने। यह सब कुछ सुनकर सभी कांग्रेसी इस तरह ठंडे पड़ गए।

लेकिन मैं प्रशांत किशोर और कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को कहना चाहता हूं कि पंजाब के लोग जाग चुके हैं इस बार प्रशांत किशोर की किसी भी तरह की ठगी पंजाब में चलने नहीं देंगे और पहले ही लोगों को जागरुक करके पंजाब में हर तरह के संचार साधनों, अखबारों, बिजली और सोशल मीडिया के जरिए, एक बड़ी मुहिम चलाई जाएगी और पंजाब में लूट को बचाने के लिए कैप्टन और प्रशांत किशोर के गठजोड़ को हर चोराहे में नंगा किया जाएगा और मुझे यकीन है कि पंजाब के लोग इस बार प्रशांत किशोर की नाट मंडली को मुंह नहीं लगाएंगे।  

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!