कांग्रेस के वार रूम 15 आर.जी. में पंजाब की 117 सीटों पर मंथन, ये सीटें हैं कमजोर

Edited By Sunita sarangal,Updated: 07 Dec, 2021 11:47 AM

in congress war room 15 rg 117 seats in punjab are churned

पंजाब में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी उम्मीदवारों को उतारने के लिए इन दिनों सर्वे करवा रही है, जिसमें पार्टी को जीत दिलवाने वाले चेहरों की तलाश की जा रही है।

जालंधर(अनिल पाहवा) : पंजाब में विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी उम्मीदवारों को उतारने के लिए इन दिनों सर्वे करवा रही है, जिसमें पार्टी को जीत दिलवाने वाले चेहरों की तलाश की जा रही है। इस तलाश को पूरा करने के लिए पार्टी का पहला सर्वे पूरा हो चुका है। इस सर्वे को लेकर हाल ही में दिल्ली में कांग्रेस की तरफ से बनाए गए वार रूम (15 आर.जी.) में एक बैठक भी हो चुकी है, जिसमें कमजोर सीटों को लेकर मंथन का क्रम भी चला है। इस पहले सर्वे की रिपोर्ट के बाद अब पार्टी ने दूसरा सर्वे शुरू करवा दिया है, जिसके लिए सर्वे टीमें विधानसभा क्षेत्रों में जा रही हैं।

यह भी पढ़ें : नटवरलाल की ठगी का शिकार हुए लुधियाना, जालंधर सहित आधा दर्जन जिलों के कांग्रेसी

6 चरणों में होगा कांग्रेस का सर्वे
पंजाब में टिकटों की घोषणा करने से पहले सभी कांग्रेस उम्मीदवारों को 6 दरवाजों से होकर निकलना होगा। हर दरवाजे पर हर उम्मीदवार की कड़ी परीक्षा होगी। परीक्षा में पास होने पर ही उसे टिकट मिलेगा। जानकारी के अनुसार कांग्रेस पार्टी जो 6 सर्वे करवा रही है, उनमें से तीन सर्वे निजी कम्पनियों द्वारा किए जा रहे हैं, जबकि तीन अन्य सर्वे पार्टी के आब्जर्वरों द्वारा किए जा रहे हैं। इस पूरे अभियान में करीब एक महीने का समय लग सकता है। पहले सर्वे की रिपोर्ट निजी कम्पनी की तरफ से दी जा चुकी है, जबकि पार्टी के स्तर पर पहले सर्वे की रिपोर्ट आजकल में दी जाएगी।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस द्वारा बनाई कमेटियों को लेकर अब छिड़ी एक और नई चर्चा

15 आर.जी. में तीन घंटे तक चली सर्वे पर चर्चा
पंजाब में 117 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारने के लिए जो सर्वे कांग्रेस में चल रहे हैं, उसकी पहली रिपोर्ट पर करीब 3 घंटे तक चर्चा चली। दिल्ली में वार रूम जिसे 15 आर.जी. भी कहा जाता है, में राहुल गांधी के साथ-साथ पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी, कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू, पार्टी पंजाब प्रभारी हरीश चौधरी तथा पंजाब आब्जर्वर चेतन चौहान मौजूद थे। एक-एक विधानसभा सीट पर चर्चा की गई तथा कमजोर सीटों को लेकर अलग से एक सूची बनाई गई है। अभी तक के सर्वे में यह बात सामने आई है कि पंजाब में अकेले दोआबा क्षेत्र में ही करीब एक दर्जन कमजोर सीटें हैं, जिन पर या तो उम्मीदवार बदले जा सकते हैं या फिर कोई अलग रणनीति बनाई जा सकती है। 22 नवम्बर को हुई 15 आर.जी. की इस बैठक में दोआबा, मालवा तथा माझा के क्षेत्रों पर चर्चा की गई। गौरतलब है कि कांग्रेस पंजाब में जो सर्वे करवा रही है, उसे चार हिस्सों में बांटा गया है। दोआबा व माझा एक-एक और मालवा को दो हिस्सों में बांटा गया है।

यह भी पढ़ें : समारोह दौरान नवजोत सिद्धू को लेकर CM चन्नी का बड़ा बयान

ये सीटें हैं कमजोर
पंजाब केसरी को सूत्रों से जानकारी मिली है कि 22 नवम्बर को 15 आर.जी. में जो चर्चा हुई है, उसमें करीब एक दर्जन सीटें कमजोर पाई गई हैं, उनमें गुरदासपुर, होशियारपुर, जालंधर, कपूरथला की कुछ सीटें भी शामिल हैं। इनमें से कुछ मौजूदा विधायकों की रिपोर्ट खराब आ रही है, जबकि एक-दो सीटों पर तो खुद मंत्री भी कोई बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं, जिसे देखते हुए पार्टी अब अगले सर्वे में इन सीटों को केंद्र में रखकर चर्चा कर रही है। पार्टी का अगला सर्वे 15 दिन चलेगा। संभावना है कि 20 तारीख के आसपास इसकी रिपोर्ट 15 आर.जी. में डिस्कस होगी। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!