पाकिस्तान से 2001 में जालंधर आए  दो भाईयों को 22 साल बाद मिली नागरिकता, पढ़ें क्यों

Edited By Urmila,Updated: 28 Mar, 2023 09:29 PM

two brothers who came to jalandhar from pakistan in 2001

डिप्टी कमिश्नर जसप्रीत सिंह ने आज 2001 में पाकिस्तान छोड़ कर 22 से अधिक वर्षों से जालंधर में रहने वाले दो भाइयों को नागरिकता सर्टिफिकेट सौंपे ।

 जालंधर: डिप्टी कमिश्नर जसप्रीत सिंह ने आज 2001 में पाकिस्तान छोड़ कर 22 से अधिक वर्षों से जालंधर में रहने वाले दो भाइयों को नागरिकता सर्टिफिकेट सौंपे । बस्ती दानिशमंदा के निवासी गोपाल चंद और गुरदयाल चंद, जो अपने परिवारों के साथ जालंधर में रह रहे हैं, ने भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन किया था। इससे पहले प्रशासन ने दोनों को नागरिकता की शपथ दिलाई, जिसके बाद नागरिकता सर्टिफिकेट जारी किया गया है।

अधिक जानकारी देते हुए डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि गोपाल चंद और गुरदयाल चंद दोनों 2001 में सियालकोट (पाकिस्तान) छोड़कर अटारी सीमा के से समझौता एक्सप्रेस के माध्यम से भारत आए थे,तब से वे जालंधर में रह रहे हैं, इसलिए भारतीय नागरिकता पाने के पात्र हैं। उन्होंने आगे कहा कि प्रशासन ने दोनों द्वारा जमा कराए गए दस्तावेजों की जांच के बाद नागरिकता अधिनियम, 1955 के तहत उनके आवेदनों को मंजूरी दे दी है।

नागरिकता सर्टिफिकेट प्राप्त करने के बाद, दोनों भाइयों ने डिप्टी कमिश्नर जालंधर को नागरिकता अधिनियम के तहत उनके आवेदनों पर कार्यवाही करने के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि जालंधर प्रशासन ने अधिनियम के तहत निर्धारित सभी शर्तों को पूरा करने के लिए सकारात्मक तरीके से उनकी मदद की है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

IPL
Gujarat Titans

Chennai Super Kings

Match will be start at 23 May,2023 07:30 PM

img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!