पंजाब के ईंट-भट्ठा अनिश्चितकाल तक बंद, जाने क्यों

Edited By Urmila, Updated: 04 Jun, 2022 10:35 AM

punjab s brick kilns closed indefinitely know why

पंजाब का ईंट भट्ठा उद्योग पूर्णत: बंद होने की कगार पर है। बार-बार गुहार लगाने पर भी सरकार सुनवाई नहीं कर रही जिसके चलते राज्य के लगभग 2700 ईंट-भट्ठे अगस्त...

होशियारपुर (राजेश जैन): पंजाब का ईंट भट्ठा उद्योग पूर्णत: बंद होने की कगार पर है। बार-बार गुहार लगाने पर भी सरकार सुनवाई नहीं कर रही जिसके चलते राज्य के लगभग 2700 ईंट-भट्ठे अगस्त माह से अनिश्चितकाल के लिए बंद किए जा रहे हैं। 

यह घोषणा पंजाब ईंट-भट्ठा एसोसिएशन के प्रदेश चेयरमैन कृष्ण कुमार वासल ने की। उनके साथ शिवदेव सिंह बाजवा, मनीष गुप्ता, राकेश मोहन पुरी व चरणदास शर्मा भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि 7000 रुपए टन मिलने वाला कोयला अब वे 21,500 रुपए टन में खरीदने को मजबूर हैं जिसके चलते 5 फीसदी जी.एस.टी. भी उन्हें 3 गुणा भरना पड़ रहा है। 
देश में कोयले का कारोबार सरकार द्वारा कुछेक पूंजीपतियों के सुपुर्द करने से वे मनमानी कर रहे हैं। हालात ये हैं कि अधिकांश भट्ठा मालिक डिप्रैशन व कर्ज में डूब रहे हैं। सरकार ने ईंटों पर जी.एस.टी. 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 12 प्रतिशत कर दी है जबकि ग्राहक इसे देने को तैयार नहीं हैं क्योंकि इससे ईंटों की कीमत और बढ़ जाती है।

भट्ठा मालिकों ने आरोप लगाया कि सरकार पंजाब के 5 लाख से अधिक उन परिवारों का गला घोंट रही है जो ईंट-भट्ठा उद्योग पर निर्भर हैं। भट्ठे बंद होने पर राज्य में विकास कार्य बुरी तरह प्रभावित होंगे जिसकी सारी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होगी। भट्ठा मालिकों पंकज डडवाल, संदीप गुप्ता, बिक्रम सिंह पटियाल, विपन गुप्ता, नमित गुप्ता, नरेंद्र कौशल, राकेश मोहन पुरी, अश्विनी गर्ग, दिपांशु गुप्ता, रंदीप सिंह आदि ने भी विरोध जताया। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!