झुग्गी में आग लगने का मामला: एक और बच्चे ने तोड़ा दम, भाई-बहन लड़ रहे जिंदगी और मौत की जंग

Edited By Urmila,Updated: 15 Jan, 2023 03:17 PM

slum fire case another child dies brothers and sisters fight for life

गांव मांडयानी में आठ जनवरी की रात झुग्गी में लगी आग में झुलसे 4 बच्चों को पी.जी.आई. अस्पताल चंडीगढ़ में उपचाराधीन दाखिल करवाया गया था।

मुल्लांपुर दाखा (कालिया): गांव मांडयानी में आठ जनवरी की रात झुग्गी में लगी आग में झुलसे 4 बच्चों को पी.जी.आई. अस्पताल चंडीगढ़ में उपचाराधीन दाखिल करवाया गया था जिनमें से प्रवीण कुार (11 वर्ष) की गत दिन मौत हो गई थी जबकि आज दोपहर 15 जनवरी को करीब 12.20 बजे 10 वर्षीय लड़की कोमल ने भी दम तोड़ दिया। 

उल्लेखनीय है कि प्रवासी मजदूर भूदान कुमार जो पंच मनदीप सिंह की मोटर पर झोंपड़ी में रह रहा था। 8 जनवरी की रात करीब 9.30 बजे उसकी पत्नी सुनीता अपने 7 बच्चों को सुलाकर पति का इंतजार कर रही थी। आचनक दीया गिरने से झोंपड़ी को आग लग गई। इस दौरान उसने अपने चार महीने की बच्ची इंदू को तो बाहर निकाल लिया था परंतु उसके 6 बच्चे जिनमें से 4 लड़के और 2 लड़कियां झुलस गई थीं। इनमें मोहन उर्फ ​बिरजू और शुक्रा ने चंडीगढ़ के सरकारी अस्पताल में दम तोड़ दिया था और चार बच्चों की पी.जी.आई. अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल करवाया था जिसमें से प्रवीण (11 वर्ष) की 13 जनवरी की लोहड़ी की रात में मौत हो गई, जबकि 10 साल की कोमल की आज  मौत हो गई। फिलहाल भाई-बहन अम्नू और राधिका जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं, उनकी भी हालत गंभीर बताई जा रही है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!