Ex MLA मक्कड़ के भाई के आरोपों के बाद मोनू पुरी का बड़ा खुलासा, कही ये बात

Edited By Urmila,Updated: 31 Jul, 2022 03:51 PM

monu puri s big disclosure after the allegations of ex mla makkar s brother

जालंधर के पूर्व विधायक के भाई द्वारा भाजपा नेता पर गंभीर आरोप लगाने का मामला सामने आया है।

जालंधरः जालंधर के पूर्व विधायक के भाई द्वारा भाजपा नेता पर गंभीर आरोप लगाने का मामला सामने आया है। पूर्व विधायक सरबजीत मक्कड़ के भाई भूपिंदर सिंह ने भाजपा नेता मुकेश पुरी पर चोरी करने के आरोप लगाए हैं। पुलिस ने भूपिंदर की शिकायत दर्ज कर ली है। इस बात पर अब मुकेश पुरी उर्फ मोनू का बयान सामने आया है। 

जानकारी के अनुसार भूपिंदर सिंह ने मोनू पर 50 लाख रुपए की नकदी, हीरे और सोने के गहने चोरी करने के आरोप लगाए हैं और उनकी शिकायत दर्ज करवाई है। उधर मोनू पुरी ने भूपिंदर मक्कड़ पर आरोप लगाया है कि मक्कड़ उनकी संपत्ति हड़पना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मक्कड़ द्वारा लगाए गए आरोप सरासर गलत है। 

आगे उन्होंने बताया कि 2016 में नोटबंदी में उन्होंने भूपिंदर सिंह मक्कड़ से 30 लाख रुपए का चैक लिया था और उसके बदले में प्रॉपर्टी का बयाना लिखवाया था। मोनू ने कहा कि उन्होंने एक वर्ष तक इस उक्त रकम का बयाज दिया और उसके बाद उन्होंने भूपिंदर सिंह को न कभी पेमैंट दी और न ही ब्याज। जिसके चलते उन्होंने 2018 पर उन पर केस दर्ज कर दिया। मोनू ने कहा कि उन्होंने 2021 में भूपिंदर सिंह को सारी रकम दे दी तो उन्होंने भी केस वापिस ले लिया था। 

मोनू ने आगे बताते हुए कहा कि पूरी पेमैंट देने के बाद उन्होंने मक्कड़ से अपनी प्रॉपटी का बयाना वापिस देने को कहा तो उन्होंने टालमटोल करना शुरू कर दिया। उलटा उन्होंने 3 वर्ष का ब्याज मांगा जिसकी रकम 30-40 लाख रुपए बताई। इसी के चलते उन्होंने उस पर झूठी एफ.आई.आर. दर्ज करवाई है। 

 भूपिंदर सिंह का आरोप है कि वह उनके घर में चाय पी रहा था तो इतने में उन्हें सूचना मिली कि उनकी बहन का एक्सीडेंट हो गया है तो लॉकर खुला छोड़ कर सभी वहां चले गए। उस समय मोनू ने उनके घर पर चोरी को वारदात को अंजाम दिया। उधर मोनू ने बताया कि वह 16 जुलाई को सुल्तानपुर लोधी में थे। उनके साथ एडवोकेट तरुणजीत बल्ल भी थे। उन्होंने रात करीब 9 बजे घर वापसी की थी। दूसरी तरफ भूपिंदर सिंह की बहन का एक्सीडेंट 17 जुलाई की सुबह 2.45 पर हुआ था। उन्होंने कहा कि वहां की फुटेज भी निकाली जाए और पुलिस द्वारा जांच की जाए। पुलिस को गुमराह करने का पर्चा भी दर्ज किया जाए।

इस दौरान पंजाब की पुलिस की सबसे बड़ी गलती तब सामने आई जब उन्होंने थाना भार्गो कैंप में पर्चा दर्ज करवया, क्योंकि  मक्कड़ का घर किसी और थाने के अंतगर्त आता है। थाना भार्गो कैंप में पूर्व विधायक मक्कड़ की चलती है इसलिए उन्होंने वहां पर एफ.आई.आर. दर्ज करवाई है। 

आपको बता दें कि एस.एच.ओ. गगनदीप सिंह शेखों ने भाजपा नेता मोनू पर लगे आरोपों को लेकर क्लीन चिट्ट दे दी है। उनकी जांच में सारे आरोप झूठे पाए गए हैं। उन्होंने कहा कि मोनू पुरी ने कोई चोरी नहीं की है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!