शिकायत मिलते ही हरकत में आई विजीलेंस टीम, ट्रेन को रोककर की जांच

Edited By Kamini,Updated: 24 Nov, 2022 08:58 PM

vigilance team swung into action as soon as the complaint was received

पार्सल विभाग की तरफ से अमृतसर-हावड़ा कोविड एक्सप्रैस ट्रेन नंबर 00468 में ओवरवेट नग बुक कर रेवन्यू को चूना लगाने की शिकायत मिलते ही बड़ौदा हाऊस के अधिकारियों ने कार्रवाई की है।

लुधियाना (गौतम) : पार्सल विभाग की तरफ से अमृतसर-हावड़ा कोविड एक्सप्रैस ट्रेन नंबर 00468 में ओवरवेट नग बुक कर रेवन्यू को चूना लगाने की शिकायत मिलते ही बड़ौदा हाऊस के अधिकारियों ने कार्रवाई की है। अधिकारियों ने तुरंत विजीलैंस टीम को भेज कर लुधियाना से चली इस ट्रेन को पटना रेलवे स्टेशन पर रोक कर 3 डिब्बों में लोड किए गए करीब 245 नगों की जांच की, जबकि अन्य 7 डिब्बों को कलकत्ता पहुंचने पर चैक किया गया। 

अधिकारियों का कहना है कि यह रूटीन चैकिंग है, पहले भी इसी तरह से चैकिंग की जाती है। जबकि सूत्रों का कहना है कि अधिकारियों को सूचना मिली थी कि इस स्पेशल ट्रेन में पिछले काफी समय से ओवरवेट नग डाल कर भेजे जा रहे है और रेलवे विभाग को चूना लगाया जा रहा है। सूत्रों का यह भी कहना है कि आशंका जताई जा रही है कि इस खेल में पहले भी सूर्खियों में रहे एक प्राइवेट करिंदे और एक अधिकारी की मिलीभुगत को लेकर आशंका जताई जा रही है। फिरोजपुर मंडल के अधिकारियों का कहना है कि फिलहाल इस मामले की रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी, अगर किसी की मिलीभुगत सामने आई तो विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

इस बात की भनक लगते ही कुछ व्यापारियों ने अपना सामान वापस मंगवा कर ट्रास्पोर्टरों के पास पहुंचना शुरू कर दिया ताकि टीम की जांच के चलते माल न रूके और उचित समय पर व्यापारियों के पास पहुंच सके। गौरतलब है कि कोविड काल के दौरान रेलवे की तरफ से यह स्पेशल मालगाड़ी चलाई गई थी ताकि सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुचाया जा सके, सप्ताह में एक बार चलने वाली 10 डिब्बों वाली ट्रेन से भारी मात्रा में सामान भेजा जा रहा है। हौजरी सीजन होने के कारण लुधियाना से काफी मात्रा में हौजरी के नग इस ट्रेन से कलकत्ता व अन्य स्थानों के लिए भेजे जाते है ।   

क्या था मामला 

विभाग की तरफ से ओवरवेट नग भेजने की चोरी रोकने के लिए इलैक्ट्रोनिक मशीनें लगाई गई है ताकि नग के तोल में कोई हेराफेरी न हो और सारे सिस्टम को ऑनलाइन किया गया है। भार तोलने की इलैक्ट्रोनिक मशीन पर नग तोलते ही आटोमैटिक बिल्टी बनने की प्रक्रिया की जा रही है । इस मामले को लेकर अधिकारियों को शिकायत मिली थी कि कुछ नगों को मैन्यूल तौर पर तोल कर उसकी बिल्टी 100 किलो के हिसाब से बनाई गई है, जबकि नग वास्तव में 100 किलो से कहीं अधिक है। इसकी आड़ में विभाग के रेवन्यू  को चूना लगा कर कुछ लोगों ने अपनी जेब गर्म की है। शिकायत मिलते ही विभाग ने कार्रवाई की है। स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि पार्सल विभाग में रोजना चैकिंग की जाती है और अगर कोई ओवरवेट नग मिलता है तो उसके अलग से जुर्माना लगा कर चार्ज लिया जा रहा है। सारा सिस्टम ऑन लाइन होने के कारण किसी से भी ओवरवेट नग बुक नहीं हो सकता, किसी समय मैन्यूल बुकिंग भी होती है, जिसकी अलग से जांच भी की जाती है।

प्राइवेट करिंदों का बोल बोला 

विभाग में सरकारी कर्मचारियों की कमी होने के कारण अक्सर पार्सल विभाग में प्राइवेट करिंदों का बोल बोला रहता है। बुकिंग से लेकर पोर्टर तक का काम अक्सर प्राइवेट करिंदे ही करते है। कुछ दिन पहले भी एक प्राइवेट करिंदे की तरफ से सरकारी अधिकारी की कुर्सी पर बैठ कर काम करने का मामला उजागर हुआ था। इस बार भी अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि किसी न किसी प्राइवेट करिंदे की मिलीभुगत से ओवरवेट नग बुक किए होगे। लेकिन इस मामले की गहनता से जांच करने के बाद ही बनती कार्रवाई की जाएगी। पार्सल विभाग व रेलवे प्लेटफार्म पर लगे सी.सी.टी.वी. कैमरों की फुटेज से पता लगाया जाएगा कि किन लोगों ने नग बुक कर ट्रेन में लोड किए है । फिलहाल रिपोर्ट आने के बाद ही अगली कार्रवाई की जाएगी ।  

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!