शौर्यगाथा श्री पंजा साहिब की पहली शताब्दी मौके SGPC ने लिया यह फैसला

Edited By Urmila,Updated: 28 May, 2022 11:04 AM

sgpc took this decision on the first centenary of shauryagatha sri panja sahib

गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब के शहीदी दिवस 100वीं शताब्दी समागम की तैयारियों को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की तरफ से बैठक की गई। इस बैठक दौरान पाकिस्तान में सिख श्रद्धालुओं का एक विशेष...

अमृतसर/चंडीगढ़ (दीपक): गुरुद्वारा श्री पंजा साहिब के शहीदी दिवस 100वीं शताब्दी समागम की तैयारियों को लेकर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की तरफ से बैठक की गई। इस बैठक दौरान पाकिस्तान में सिख श्रद्धालुओं का एक विशेष जत्था लेकर जाने के साथ-साथ गुरुद्वारा श्री मंजी साहिब दीवान हाल अमृतसर में विशेष समागम सजाने का फैसला किया गया है।

चंडीगढ़ स्थित शिरोमणि कमेटी प्रधान एडवोकेट धामी के नेतृत्व में शताब्दी कमेटी की सभा दौरान इस ऐतिहासिक मौके पर किए जाने वाले समागमों की रूपरेखा तय करते भारत और पाकिस्तान में करवाए जाने वाले समागमों के अलावा अलग-अलग भाषाओं में श्री पंजा साहिब शहीदी सम्बन्धित पुस्तकें तैयार करवाकर बांटने और स्कूलों-कालेजों में शताब्दी को समर्पित धार्मिक मुकाबले करवाने पर मोहर लगाई गई है। एडवोकेट धामी ने जानकारी देते बताया है कि 30 अक्तूबर 2022 को शौर्यगाथा श्री पंजा साहिब की 100वीं शताब्दी पंथक जाहो-जलाल मनाई जाएगी जिसको लेकर शिरोमणि कमेटी ने तैयारियां शुरू की हैं।

उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में होने वाले शताब्दी समागमों में शिरोमणि कमेटी की तरफ से श्रद्धालुओं का जत्था शामिल होगा। पाकिस्तान में होने वाले समागमों सम्बन्धित पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और सरकार से सम्बन्धित विभाग के साथ विचार-विमर्श के लिए एक वफद पाकिस्तान भेजा जाएगा। पाकिस्तान जाने वाले श्रद्धालुओं की वीजा फीस आदि का खर्च धर्म प्रचार कमेटी करेगी। उन्होंने कहा कि श्री पंजा साहिब के शहादत शौर्यगाथा सम्बन्धित 29 और 30 अक्तूबर को 2 दिनों विशाल संकल्प समागम गुरुद्वारा श्री मंजी साहिब दीवान हाल अमृतसर में करवाया जाएगा जिसमें पंथ की प्रमुख शख्सियतें शामिल होंगी। इसी तरह एक समागम 22 अक्तूबर को श्री आनन्दपुर साहिब में होगा।

शिरोमणि कमेटी प्रधान ने बताया कि इसी तरह गुरुद्वारा गुरु का बाग मोर्चे की पहली शताब्दी भी विशाल स्तर पर मनाई जाएगी, जिस सम्बन्ध में 30 अगस्त 2022 को गुरुद्वारा गुरु का बाग घुकेवाली अमृतसर में समागम होगा। उन्होंने बताया कि इन दोनों शताब्दियों के सम्बन्ध में विशेष ऐतिहासिक पुस्तकें (पैम्फलेट) अलग-अलग भाषाओं में तैयार करके कर बांटे जाएंगे और इसके साथ ही शिरोमणि कमेटी के प्रबंध वाले स्कूलों-कालेजों में धार्मिक मुकाबलों का आयोजन किया जाएगा। इसी तरह शताब्दी को समर्पित ऐतिहासिक चित्र प्रदर्शनी विशेष तौर पर तैयार की जाएगी जिसमें उस समय के वाक्यात को तस्वीरों के द्वारा दिखाया जाएगा। गुरुद्वारा गुरु का बाग मोर्चा और शौर्यगाथा श्री पंजा साहिब के इतिहास बारे वृतचित्र भी तैयार किए जाएंगे। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!