यात्री परेशान, बस स्टैंड मैनेजमैंट के कंट्रोल में नहीं दिख रही स्थिति

Edited By Urmila, Updated: 20 May, 2022 10:29 AM

passengers upset the situation is not visible under the control

महानगर के मेन बस स्टैंड परिसर में यात्रियों को कई मूलभूत सुविधाएं से वंचित होना पड़ रहा है जिस कारण उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बता दें कि मौसम गर्मी वाला है और जब ...

लुधियाना (मोहिनी): महानगर के मेन बस स्टैंड परिसर में यात्रियों को कई मूलभूत सुविधाएं से वंचित होना पड़ रहा है जिस कारण उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। बता दें कि मौसम गर्मी वाला है और जब बस स्टैंड की बिजली गुल हो जाती है तो परिसर में लगे पंखे बंद हो जाते है जबकि विभाग ने हाई पावर का जनरेटर उपलब्ध करवाया हुआ है मगर उसमें डीजल न होने के कारण चलाया नहीं जाता, जिस कारण यात्रियों को बिना पंखे की हवा से बैठे रहना पड़ रहा है। ऊपर से 45 डिग्री तापमान है लेकिन गर्मी के कारण बुजुर्गो, महिलाओं और बच्चों के तो पसीने ही छूट जाते है। रोडवेज अधिकारी व बस स्टैंड के स्टेशन सुपरवाइजर का इस और कोई ध्यान नहीं है। वहीं, बस स्टैंड परिसर में 3 महिलाओं व 3 पुरुषों के लिए शौचालय बनाए हुए है लेकिन 1 शौचालय महिलाओं के लिए बंद किया हुआ है जिससे महिलाओं को 1 नम्बर कांउटर या 40 नम्बर कांऊटर पर बने शौचालय में जाना पड़ता है जिस कारण बस स्टैंड पर यात्रियों को कई मूलभुत सुविधा नहीं मिल पाती।

PunjabKesari

गौरतलब है कि शौच जाने के लिए पुरुषों से 5 रुपए तक लिए जा रहे है। दूसरी ओर दिव्यांगों और महिलाओं के लिए बने एक शौचालय को ताला लगा हुआ है। जब इस संबंध में बस स्टैंड के सुपरवाइजर से बात करनी चाही तो वह पहले से छुटटी पर चल रहे है और उनकी जगह पर बैठै कर्मी भी कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे पाएं। दूसरी ओर बार-बार शौचालयों के ठेकेदारों के बदलने की वजह से भी स्थिति बस स्टैंड मैनेजमैंट के कंट्रोल में नहीं दिख रही और इसका खामियाजा आम यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है।

PunjabKesari

बस स्टैंड पर भिखारियों ने जमाया डेरा, यात्रियों के पीछे तक दौड़ते हैं महिलाएं व बच्चें
यूं तो महानगर में भीख मांगने वाले लोगों की कोई कमी नहीं है, लेकिन शहीद सुखदेव अंर्तराज्जीय बस स्टैंड परिसर में इनकी संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। इससे आशंका है बच्चों से भीख मंगवाने वाले लोगों का कोई गिरोह सक्रिय है। इनमें अधिकांश बच्चे 5 से 10 साल की उम्र तक के हैं जो यात्रियों से दूध या खाने के नाम पर भीख मांगते हैं। कई बार कम पैसे देने पर 10 से 20 रुपए की मांग करते हुए पीछे-पीछे घूमने लगते हैं। ऐसे ही बच्चे बस स्टैंड पर भी देखे जा सकते हैं। आसपास के दुकानदारों का कहना है कि इन्हें अगर कोई खाने को कुछ दिलवाता है तो मना कर देते हैं और पैसों की मांग करते हैं। उधर बस स्टैंड पर परिसर में विभाग ने 14 सिक्योरिटी गार्ड तैनात किए हुए है मगर कोई सिक्योरिटी गार्ड इन भीख मांगने वालों और सामान बेचने वालों को बस स्टैंड से बाहर जाने का रास्ता नहीं दिखा पाते। बस स्टैंड में पुलिस चौकी भी बनी हुई किसी पुलिस कर्मी का ध्यान इस ओर नहीं जाता है।

आपराधिक घटनाओं को दे रहे अंजाम
ये भिखारी कहां से आए हैं और रात को कहां ठहरते हैं इसका किसी को पता नहीं है। पुलिस के पास रिकॉर्ड न होने से ऐसे भिखारी आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के बाद फरार हो जाते हैं।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!