शिक्षा विभाग ने पहली कक्षा के विद्यार्थियों के लिए शुरू की नई योजना

Edited By Kamini,Updated: 18 Apr, 2022 06:33 PM

education department started a new scheme for first class students

पंजाब के सरकारी स्कूलों में प्राइमरी कक्षाओं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए कक्षा एक के छात्रों को शिक्षा में सक्षम बनाने के लिए 3 .........

लुधियाना  (विक्की):  पंजाब के सरकारी स्कूलों में प्राइमरी कक्षाओं में पढ़ने वाले छात्रों के लिए कक्षा एक के छात्रों को शिक्षा में सक्षम बनाने के लिए 3 महीने का विद्या प्रवेश कार्यक्रम शुरू किया जा रहा है। जानकारी देते हुए डी.जी.एस.ई. पंजाब प्रदीप कुमार अग्रवाल ने बताया कि पिछले 2 वर्षों के दौरान एडमिशन तो मिले लेकिन कोविड-19 की अनिवार्य पाबंदियों के चलते उन्हें लगातार शिक्षाप्रद क्लासरूम का माहौल नहीं मिल सका। इसके चलते आशंका यह जताई जा सकती है कि इन बच्चों की स्कूली शिक्षा का आधार कमजोर रहेगा। 3 माह का विद्या प्रवेश कार्यक्रम इन बच्चों की साक्षरता और संख्या ज्ञान जैसे  मूलभूत आधार को मजबूत करने में काफी कारगर साबित होगा।

योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए डायरेक्टर राज्य शिक्षा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद पंजाब डॉ. मनिंदर सिंह सरकारिया ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा 3 महीने का पूरा शेड्यूल तैयार किया गया है। इसमें खेल विधि के माध्यम से बच्चों की बौद्धिक, मानसिक, शारीरिक, रचनात्मक और सामाजिक भाईचारे का विकास कर स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के आधार को मजबूत करना है। अत: राज्य स्तर पर पहले रिसोर्स परसन्ज को जिला एवं ब्लॉक रिसोर्स परसन्ज को तैयार किया जाएगा  ताकि विद्या प्रवेश कार्यक्रम के अंतर्गत प्रयोग की जाने वाली खेल विधि, बच्चों के मोटर कौशल के विकास के लिए की जाने वाली गतिविधियों एवं इन गतिविधियों से संबंधित शिक्षण सहायक सामग्री की जानकारी शिक्षकों को उपलब्ध कराई जाएगी।

इस संबंध में अधिक जानकारी देते हुए  विद्या प्रवेश कार्यक्रम के स्टेट कोआर्डिनेटर डॉ. हरपाल सिंह बाजक ने कहा कि विद्या प्रवेश कार्यक्रम का उद्देश्य प्रथम कक्षा के बच्चों को स्कूली शिक्षा के लिए तैयार करना है। पिछले 2-3 वर्षों के दौरान कोविड-19 के निर्देशों के अनुसार कक्षा के अनुरुप वातावरण नहीं होने के कारण बच्चे अधिकांशत: शिक्षण और सीखने की गतिविधियों से वंचित रहे हैं। इसलिए शिक्षा विभाग द्वारा इस सत्र के सीखने के स्तर और शिक्षण परिणामों को और बेहतर बनाने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।  विभाग इन बच्चों की बेसलाइन, मिड टेस्ट और अंतिम जांच करके विशेष परीक्षण करेगा ताकि यह पता लगाया जा सके कि विद्या प्रवेश कार्यक्रम से प्रथम कक्षा के छात्रों को किस हद और स्तर तक लाभ हुआ है। साथ ही स्कूल शिक्षा विभाग इन बच्चों को शिक्षकों द्वारा संचालित की जाने वाली गतिविधियों के चार्ट और वीडियो भी उपलब्ध करा रहा है ताकि अध्यापक स्कूल और कक्षा में कार्यक्रम को सुचारू रूप से  लागू कर सकें।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!