CBSE Students के लिए अच्छी खबर, इन Classes में कम हो सकता है पढ़ाई का बोझ!

Edited By Vatika,Updated: 21 Mar, 2023 01:43 PM

good news for cbse students

सी.बी.एस.ई. 22 राज्यों में एन.सी.ई.आर.टी. सिलेबस से पढ़ाता है।

लुधियाना (विक्की) : सैंट्रल बोर्ड ऑफ सैकेंडरी एजुकेशन (सी.बी.एस.ई.) नए शैक्षणिक सत्र 2023-24 से एन.सी.ई.आर.टी. का सिलेबस कक्षा 9वीं से 12वीं के लिए घटा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि जिन विषयों का सिलेबस घटाया जाएगा, उनमें इतिहास, भूगोल, अंग्रेजी और हिंदी शामिल रहेंगे। इन विषयों के अलावा और भी विषयों का सिलेबस घटाया जा सकता है। सी.बी.एस.ई. 22 राज्यों में एन.सी.ई.आर.टी. सिलेबस से पढ़ाता है।

सिलेबस से ज्यादातर वे टॉपिक हटाए जाएंगे जो किसी और अध्याय के तहत भी कवर होते हैं और दोहराए जाने वाले माने जाते हैं। सी.बी.एस.ई. बोर्ड की ओर से सिलेबस घटाने की जानकारी जल्द ही जारी किए जाने की संभावना है। सिलेबस घटाने के लिए एन.सी.ई.आर.टी. और सी.बी.एस.ई. बोर्ड के विशेषज्ञों ने नौवीं से 12वीं के पाठ्यक्रम में कटौती के लिए प्लान बनाया है। सिलेबस घटाने वाली कमेटी ने अलग अलग राज्यों, स्कूलों में मैनेजमैंट, अभिभावकों, शिक्षाविद् और शिक्षकों के सुझाव भी लिए हैं।

पिछले साल भी कम किए गए थे Topic
बोर्ड
 हर साल सिलेबस में कुछ जोड़ता या उससे कुछ घटाता ही है। ये सभी बदलाव स्टूडैंट्स की बेहतरी के लिए जाते हैं। पाठ्यक्रम घटाने का फैसला 50 लाख से अधिक स्टूडैंट्स के लिए महत्वपूर्ण होगा। सिलेबस कम होना स्टूडैंट्स की पढ़ाई पर अच्छा असर डालेगा। सिलेबस घट जाने के बाद स्टूडैंट्स नए सिलेबस से पढ़ाई कर सकेंगे। उनका करिकुलम व एग्जाम घटे हुए पाठ्यक्रम के आधार पर ही होंगे। पिछले साल भी बोर्ड ने 11वीं और 12वीं के राजनीति विज्ञान पाठ्यक्रम से गुटनिरपेक्ष आंदोलन, शीत युद्ध, अफ्रीकी-एशियाई क्षेत्रों में इस्लामी साम्राज्यों के उदय, मुगल दरबारों का इतिहास और औद्योगिक क्रांति के हटाए थे। इसके अलावा 10वीं के सामाजिक विज्ञान के पाठ्यक्रम से भी कुछ टॉपिक हटाए गए थे। हटाए गए टॉपिक्स में खाद्य सुरक्षा, कृषि पर वैश्वीकरण के प्रभाव टॉपिक्स शामिल थे।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!