पावरकॉम का फैसला, औसतन नहीं रीडिंग के आधार पर आएगा बिल

Edited By swetha, Updated: 14 Apr, 2020 10:42 AM

powercom s decision bill will come on the basis of readings not average

पावरकॉम बिजली उपभोक्ताओं से अब औसतन नहीं बल्कि रीडिंग के हिसाब से ही बिल वसूलेगा। पावरकॉम 10 हजार रुपए से अधिक का बिल ऑनलाइन भुगतान करने वाले उपभोक्ता को 1 प्रतिशत बिल में रियायत दे रही है।

 लुधियानाःपावरकॉम बिजली उपभोक्ताओं से अब औसतन नहीं बल्कि रीडिंग के हिसाब से ही बिल वसूलेगा। पावरकॉम 10 हजार रुपए से अधिक का बिल ऑनलाइन भुगतान करने वाले उपभोक्ता को 1 प्रतिशत बिल में रियायत दे रही है।

लॉकडाउन व क‌र्फ्यू की वजह से फैक्ट्रियां बंद हैं और उनके ना चलने पर भी एवरेज के हिसाब से बिजली का बिल भरना कारोबारियों को मुश्किल था। इसलिए पावरकॉम के चेयरमैन कम डायरेक्टर (सीएमडी) इंजीनियर बलदेव सिंह सरां ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उद्योगपतियों की समस्याएं सुनी थीं। बता दें कि इससे पहले पावरकॉम ने बिजली का औसतन बिल भेजने की योजना बनाई थी। उपभोक्ताओं के विरोध के बाद खासकर इंडस्ट्रियल उपभोक्ताओं ने एवरेज बिल का विरोध किया था।   

Related Story

Trending Topics

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!