किसानों ने बैरीकेड्स तोड़ किया सिद्धू की कोठी का घेराव

  • किसानों ने बैरीकेड्स तोड़ किया सिद्धू की कोठी का घेराव
You Are HerePunjab
Sunday, August 20, 2017-12:45 AM

अमृतसर(दलजीत): कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी का घेराव करने जा रहे किसानों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। किसान संघर्ष कमेटी के नेतृत्व में किसानों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरीकेड्स तोड़ते हुए सिद्धू की कोठी का घंटों घेराव किया तथा जमकर पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। 


संगठन नेताओं ने सरकार को चेतावनी दी कि यदि समूचा कर्जा माफ करके किसानों की मांगों को स्वीकार न किया गया तो कांग्रेसी मंत्रियों के घरों के बाहर अनिश्चितकाल के लिए पक्के मोर्चे लगा दिए जाएंगे। इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए किसान संघर्ष कमेटी के जिला प्रधान गुरबचन सिंह चब्बा व राज्य सीनियर उप प्रधान सरवन सिंह पंदेर ने कहा कि कैप्टन सरकार अपने चुनावी वायदों से भाग गई है तथा सरकार का कर्जा माफी का ऐलान मात्र झूठ का पुङ्क्षलदा बनकर रह गया है। कर्जे के कारण किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं तथा राजनीतिक दल इस गंभीर समस्या का हल निकालने की बजाए राजनीति कर रहे हैं। राज्य के किसानों पर 90,000 करोड़ का कर्जा है। 


कर्जे को माफ करने के लिए सरकार खजाना खाली होने की बात कर रही है परन्तु मुख्यमंत्री बताएं कि यदि खजाना खाली है तो उन्होंने राज्य में अपने 9 ओ.सी.डी. तथा सलाहकार बनाकर उनके वेतन में क्यों बढ़ौतरी की है। किसान नेताओं ने कहा कि सरकारी डिपुओं पर आने वाले अनाज में भी राजनीतिक षडयंत्र रचा जा रही है। बदलाखोरी की भावना से लाभपात्रियों के नाम काटे जा रहे है। पंजाब में नशे का बोलबाला है। बेरोजगार नौजवान हाथों में डिग्री लिए सड़कों पर भटक रहे हैं। कैप्टन ने चुनाव घोषणा-पत्र में जारी किसी भी वायदे को पूरा नहीं किया है। प्रदर्शनकारियों में लखविन्द्र सिंह वरियाम, सतनाम सिंह, रणजीत सिंह, गुरविन्द्र सिंह व अन्य शामिल थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!