Subscribe Now!

डेड फिश में छिपा कर लाई गई 1.5 किलो हैरोईन बरामद, योगाडां सिटीजन महिला काबू

  • डेड फिश में छिपा कर लाई गई 1.5 किलो हैरोईन बरामद, योगाडां सिटीजन महिला काबू
You Are HereJalandhar
Monday, January 22, 2018-7:01 PM

जालंधर (प्रीत): पंजाब पुलिस की सख्ती के कारण तस्करों ने हैरोईन सप्लाई के मोडेस ओपरैंडी बदल दी है। काउंटर इंटैलीजैंस और जगराओं पुलिस ने ज्वाइंट आप्रेशन के दौरान योगाडां सिटीजन महिला को गिरफ्तार किया है। महिला तस्कर द्वारा कैप्सूल में भर कर हैरोईन ‘डेड फिश’ में छिपाई हुई थी। ‘डेड फिश’ में छिपा कर नई दिल्ली से लाई गई 1.5 किलो हैरोईन बरामद की गई है। हैरोईन तस्करी के नैटवर्क में संलिप्त नाईजिरियन समेत समेत 2 लोग जेल में है जबकि महिला समेत दो लोगों की पुलिस तलाश कर रही है। 

जालंधर जोन के आई.जी. अॢपत शुक्ला ने बताया कि काउंटर इंटैलीजैंस के ए.आई.जी. हरकमलप्रीत सिंह खख को सूचना मिली थी कि नई दिल्ली से महिला हैरोईन लेकर जगराओं एरिया में आ रही है। सूचना मिलने पर जगराओं पुलिस के साथ मिलकर चलाए गए संयुक्त आप्रेशन के दौरान पुलिस ने जगराओं मोगा नैशनल हाईवे से महिला रोकाट नेमूताबी वासी योगांडा को गिरफ्तार कर लिया। महिला के पास से मिली 6 ‘डेड फिश’ में से 50-50 ग्राम के 30 कैप्सूल में भरी गर्ई 1.5 किलो हैरोईन बरामद की गई। 

आई.जी. अर्पित शुक्ला ने बताया कि आरोपी महिला रोकाट नेमूताबी नाभा जेल में बन्द नाईजिरियन नेबुस उर्फ माईकल निवासी एंगो के लिए काम कर रही थी। आई.जी. अर्पित शुक्ला ने बताया कि माईकल नाभा जेल में है। माईकल को मार्च 2017 में मोहाली पुुलिस ने हैरोईन के साथ गिरफ्तार किया था। तस्करी के इस नेक्सेस में नाभा जेल में बन्द माईकल, चूरा पोस्त तस्कर राजा सिंह उर्फ राजू तथा मोगा के गांव दौलेवाल निवासी तस्कर गुरजन्ट सिंह उर्फ जण्ट तथा दिल्ली निवासी महिला मनप्रीत के नाम सामने आए है। माईकल और राजू को प्रोडक्शन वारंट पर लाया जा रहा है तथा गुरजण्ट, मनप्रीत की तलाश की जा रही है। 

नाभा जेल में हुई हैरोईन तस्करी की डील 
आई.जी. अर्पित शुक्ला ने बताया कि जांच में खुलासा हुआ है कि हैरोईन तस्करी की डील नाभा जेल में बन्द माईकल और राजा सिंह उर्फ राजू के बीच जेल में ही हुई। माईकल पिछले साल मार्च से नाभा जेल में है जबकि राजा सिंह को भी कुछ माह पहले जिला फतेहगढ साहिब की पुलिस ने 115 बोरी चूरा पोस्त के साथ गिरफ्तार किया था। जेल में राजा और माईकल का सम्पर्क हुआ। माईकल ने राजा को चूरा पोस्त की तस्करी की बजो सिंथैटिक ड्रग स्मगलिंग करने के लिए कहा। 

माईकल ने हैरोईन मंगवाने तथा राजा ने हैरोईन अपने नैटवर्क में बेचने का जिम्मा उठाया। आई.जी. अर्पित शुक्ला ने बताया कि माईकल ने दिल्ली में रहती अपनी महिला मित्र मनप्रीत और रोकाट नेमूताबी से सम्पर्क किया। जबकि राजा सिंह ने हैरोईन बेचने के लिए अपने जानकार तस्कर गुरजण्ट सिंह उर्फ जण्ट को तैयार किया। रोकाट नेमूताबी नई दिल्ली से हैरोईन लाकर गुरजण्ट सिंह को देनी थी। लेकिन पुलिस के शिकंजे में फंस गई। पता चला है कि महिला मनप्रीत मूल रूप से पंजाबी है, लेकिन वह पिछले काफी समय से दिल्ली में बसी हुई है। 

मैडीकल वीजा पर भारत आई रोकाट नेमूताबी 
आई.जी. अर्पित शुक्ला ने बताया कि प्रारम्भिक जांच में पता चला है कि रोकाट नेमूताबी मार्च 2017 में मैडीकल वीजा पर भारत आई थी। चैक करवाया जाएगा कि आखिर उसे क्या प्रॉब्लम रही। या फिर वह यहां पर किन्ही और कारणों से रूकी है। एक सवाल के जवाब में शुक्ला ने बताया कि रोज़ट नेमूताबी से पूछताछ के लिए 5 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है। पूछताछ की जाएगी कि वह कब से हैरोईन तस्करी का धन्धा कर रही है तथा और किन तस्करों के साथ उनका सम्पर्क है।

जेल से कैसे करते हैं कम्यूनीकेट, की जाएगी जांच 
आई.जी. शुक्ला ने बताया कि यह स्पष्ट है कि तस्करी का नैक्सेस नाभा जेल से ही चल रहा था। लेकिन जेल में बैठे तस्कर बाहर अपने साथियों के साथ कैसे सम्पर्क में थे, यह जांच का विषय है। शुक्ला ने इस संभावना से इंकार नहीं किया कि जेल में बैठे तस्कर फोन पर इनटच्च थे। हो सकता है कि उक्त लोग पेशी या मुलाकात के दौरान अपने नैटवर्क से इनटच्च हों। इन तथ्यों का खुलासा आरोपियों से पूछताछ में ही होगा। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन