अवैध हथियार दिलाने के नैटवर्क का पर्दाफाश,J&K से जुड़े थे  तार

  • अवैध हथियार दिलाने के नैटवर्क का पर्दाफाश,J&K से जुड़े थे  तार
You Are HerePunjab
Tuesday, September 12, 2017-12:53 PM

अबोहरः नाजायज लाइसैंस बनाने व उसी लाइसैंस पर अवैध हथियार दिलाने के नैटवर्क का पर्दाफाश करने के बाद राजस्थान के आतंक विरोधी दस्ते (ए.टी.एस.) ने तहसील परिसर के सामने स्थित अबोहर के असलहा डीलर विशाल गन हाऊस के मालिक विशाल आहूजा को भी मुख्य भूमिका निभाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। 


रविवार देर रात करीब 50 पुलिस वालों ने विशाल को पकड़ा । वहीं राजस्थान पुलिस ने उसी समय जम्मू कश्मीर, मध्यप्रदेश और राजस्थान के तीन और डीलरों को भी गिरफ्तार किया। विशाल आहूजा इस रैकेट में सैकेंड लाईन पर था। जबकि जे.एंड.के. में बैठा राहुल पूरे इंडिया में बैठे डीलर्स को विशाल के जरिए लाइसैंस भिजवाता। ए.टी.एस. ने विशाल के घर से करीब 50 लाइसैंस भी बरामद किए हैं। उसके खिलाफ जयपुर में केस दर्ज किया गया है।

 

जयपुर ए.टी.एस. के एस.एस.पी. विकास कुमार ने बताया, रविवार को उनकी चार टीमों ने जम्मू से राहुल को, अबोहर से विशाल को, मध्यप्रदेश के देवास से एक डीलर को पकड़ा। जबकि राजस्थान में 5-6 डीलरों के यहां रेड की। मध्यप्रदेश का डीलर अवैध हथियार भी बनाता था। जम्मू कश्मीर का राहुल सरकारी अधिकारियों की मिलीभगत से ऑल इंडिया लैवल पर अवैध लाइसेंस बनवाता था। इसके बाद अवैध हथियारों को वैध बना लाइसेंस पर चढ़ा दिया जाता था। अबोहर का विशाल इन लाइसेंसों को आगे भेजता था और पैसे वसूलता था। एस.एस.पी. के मुताबिक पिछले कुछ समय से उनके पास शिकायतें आ रहीं थीं कि जम्मू कश्मीर से अवैध लाइसेंस बनकर राजस्थान आ रहे हैं। जांच में पर्दाफाश हो गया। विशाल से पूछताछ के बाद पंजाब में चल रहे नैटवर्क का भंडाफोड़ भी हो सकता है।

 

आई.पी.एस. विकास कुमार ने बताया, जे.एंड.के. के सरकारी अफसर भी शक के दायरे में हैं। विकास ने कहा, शुरुआती जांच में जो सामने आया है, उससे ये साफ है कि ये लोग अपराधियों को पहले अवैध लाइसेंस बनाकर देते थे। उसके बाद अवैध हथियार लेकर देते थे। इन्होंने किस-किस को फायदा पहुंचाया, जांच जारी है।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!