ट्रक ऑप्रेटरों के आरोप,सांसद संतोख चौधरी और विक्रमजीत चौधरी ने हथियाया हमारा बिजनैस

  • ट्रक ऑप्रेटरों के आरोप,सांसद संतोख चौधरी और विक्रमजीत चौधरी ने हथियाया हमारा बिजनैस
You Are HereJalandhar
Sunday, January 14, 2018-12:19 PM

जालंधर(विशेष): दोआबा ट्रक ऑप्रेटर्स सोसायटी फिल्लौर ने आरोप लगाया कि सांसद संतोख सिंह चौधरी और उनके बेटे विक्रमजीत चौधरी ने अपने राजनीतिक प्रभाव का उपयोग करते हुए धक्के से उनका बिजनैस हथिया लिया है और दिल्ली की एक ट्रांसपोर्ट कंपनी को हायर कर व अपने चहेतों को फिल्लौर के गांव बच्छोवाल में पार्लेजी नामक कंपनी में ट्रांसपोर्टेशन के वर्षों से चल रहे उनके काम में घुसा दिया है। सोसायटी के पदाधिकारी रंजीत सिंह लसारा ने आरोप लगाया  चंद दिन पहले विक्रमजीत ने उनसे 5 लाख रुपए महीना गुंडा टैक्स देने और कारोबार में हिस्सेदारी की मांग की थी परंतु ऑप्रेटरों द्वारा अपनी असमर्थता जाहिर करने पर उसने अपने चहेतों को कारोबार में घुसा दिया।

उन्होंने बताया कि फिल्लौर के एस.डी.एम. और डी.एस.पी सरेआम ट्रक ऑप्रेटरों को फैक्टरी में न घुसने को धमका कर उनके बिजनैस को हथियाने में चौधरियों की मदद कर रहे हैं। सांसद व उनके पुत्र ने प्रबंधकों पर दबाव डाला कि वे सोसायटी के अनुबंध को रद्द कर उनके चहेते के साथ नया अनुबंध साईन करें। पुलिस ने सांसद के चहेते के 5 से 10 ट्रकों के काफिले के साथ मैन्युफैक्चिंग यूनिट में धक्के से प्रवेश करवाया ताकि वह वहां से माल का लदान कर सके, हम नहीं।  लसारा ने बताया कि 2 दिन पहले उन्हें पता चला है कि सांसद संतोख चौधरी और विक्रमजीत चौधरी के इशारे पर फिल्लौर पुलिस ने उन पर और उनके एक साथी बब्बू पर एक झूठा और जाली आपराधिक केस दर्ज किया है। गिरफ्तारी से बचने के लिए वह घर से बाहर कहीं छुप कर रह रहे हैं।

अब पुलिस अधिकारियों द्वारा सोसायटी से सबंधित ट्रक ऑप्रेटरों को धमकाया जा रहा है कि अगर उनका कोई भी ट्रक फैक्टरी में घुसा तो ट्रक ड्राइवर को भी इस केस में डाल दिया जाएगा। इस संबंध में प्रतिक्रिया लेने को सांसद से सम्पर्क नहीं हो पाया जबकि उनके पुत्र विक्रमजीत चौधरी ने अपना पक्ष रखते हुए रंजीत के आरोपों को गलत और बेबुनियाद बताया। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्ट सोसायटियों के साथ उनका कुछ लेना देना नहीं। विक्रमजीत ने बताया कि पंजाब सरकार द्वारा ट्रक यूनियनों को खत्म कर दिया गया है। 

सांसद पुत्र विक्रमजीत चौधरी का विवादों से रहा है पुराना रिश्ता
फिल्लौर विधानसभा हलका से चुनावों में पराजय का सामना कर चुके विक्रमजीत चौधरी का विवादों से पुराना रिश्ता रहा है। फिल्लौर हलका के विधायक बलदेव खैहरा व शिरोमणि अकाली दल के पदाधिकारियों ने विक्रमजीत व उनके साथियों द्वारा फिल्लौर हलका में फैलाई गुंडागर्दी के खिलाफ पहले ही मोर्चा खोल रखा है। पिछले दिनों सांसद संतोख चौधरी द्वारा एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर अपने संबोधन में फिल्लौर की जनता को विक्रमजीत चौधरी को ही अपना विधायक मानने को कहा था और उन्होंने कहा था कि अब फिल्लौर हलका का विकास विक्रमजीत ही करवाएगा। जिस पर हलका विधायक खैहरा ने सांसद संतोख चौधरी पर डा. भीमराव अंबेदकर द्वारा रचित लोकतंत्र की हत्या करने के आरोप लगाते हुए चौधरी परिवार को आड़े हाथों लिया था। अब चौधरी परिवार के साथ गुंडा टैक्स वसूलने समेत धक्के से कारोबार हथियाने का नया विवाद भी जुड़ गया है। 

सांसद संतोख चौधरी और विक्रमजीत चौधरी पर लगाए आरोपों की सच्चाई आई सामने : खैहरा
सांसद संतोख चौधरी और उनके पुत्र विक्रमजीत चौधरी पर लगे नए आरोपों पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए फिल्लौर हलका के विधायक बलदेव खैहरा ने कहा कि आज हलका में नशों, दड़े-सट्टे, अवैध माइनिंग का काम चौधरी परिवार के संरक्षण में धड़ल्ले से चल रहा है। खैहरा ने कहा कि उन्होंने सांसद चौधरी और उनके पुत्र द्वारा फैलाई जा रही गुंडागर्दी के खिलाफ पहले ही प्रैस कांफ्रैंस की थी और धरना भी लगाया था। विधायक खैहरा ने बताया कि नगर कौंसिल के प्रधान के चुनावों में कांग्रेसी पार्षदों ने ही चौधरियों पर पैसों के लेन-देन के आरोप लगाए हैं।

अब सांसद चौधरी संतोख और उनके पुत्र विक्रमजीत चौधरी पर गुंडा टैक्स वसूलने और धक्के से कारोबार हथियाने के आरोपों ने उनके द्वारा लगाए आरोपों की सच्चाई सामने ला दी है। विधायक खैहरा ने बताया कि अभी तक पीड़ित ट्रक ऑप्रटरों ने उनसे संपर्क नहीं किया है। उनके अप्रोच करने के बाद अकाली दल उनके हक के लिए डटकर लड़ाई लड़ेगा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन