पंजाब सरकार अब कुत्ता-बिल्ली पालने पर भी वसूल करेगी टैक्स, जानें कितना देना होगा टैक्स

  • पंजाब सरकार अब कुत्ता-बिल्ली पालने पर भी वसूल करेगी टैक्स, जानें कितना देना होगा टैक्स
You Are HereBathinda
Saturday, October 21, 2017-9:16 PM

बठिंडा(परमिंद्र): पंजाब सरकार की ओर से अन्य टैक्सों के साथ-साथ अब कुत्ता-बिल्ली व अन्य जानवर पालने पर भी टैक्स वसूल करेगी। सरकार की ओर से उक्त योजना बनाकर निगमों को भेजी गई है जिसे जल्द ही मंजूरी देकर लागू कर दिया जाएगा। इससे पहले भी सरकार गौ सैस के नाम पर विभिन्न वस्तुओं पर टैक्स की वसूली कर रही है जबकि लोगों को लावारिस पशुओं से निजात दिलवाने में सरकार नाकाम साबित हो रही है। अब घरों में जानवरों को पालने पर भी लोगों से टैक्स की वसूली की जाएगी। नगर निगम बटिंडा की ओर से सरकार के निर्देशों पर उक्त प्रस्ताव को हाऊस में पारित करके मंजूरी के लिए भेज दिया गया है ताकि इस पर आगे कार्रवाई हो सके।

 
निगम बनाएगा जानवरों के लाइसैंस:
स्थानीय निकाय विभाग की ओर से घरों में पाले जाने वाले जानवरों पर टैक्स लगाने की उक्त योजना तैयार की है। विभाग की ओर से 29 सितंबर 2017 को नगर निगम को पत्र भेजकर इस योजना को अडाप्ट करने की हिदायतें दी गई हैं। इसके तहत सभी पालतु जानवरों के बकायदा लाइसैंस बनाए जाएंगे जिन्हें हर वर्ष रिन्यू करवाना पड़ेगा। योजना के तहत कुत्ता, बिल्ली, सूअर, बकरी, पोनी, बछड़ा, भेड़, हिरण आदि पालने वाले लोगों को 250 रुपए प्रति वर्ष अदा करने पड़ेंगे। इसके साथ ही भैंस, सांड, ऊंट, घोड़ा, गाय, हाथी, नील गाय आदि पालने वाले लोगों से 500 रुपए प्रति वर्ष वसूल किए जाएंगे। 


लाइसैंस रिन्यू न होने पर लगेगा जुर्माना:
योजना के तहत हर जानवर का लाइसैंस बनाया जाएगा जिसे हर वर्ष रिन्यू करवाना पड़ेगा। कुत्ता-बिल्ली वर्ग का कोई मालिक अगर निर्धारित अवधि से 30 दिनों के भीतर लाइसैंस रीन्यु नहीं करवाएगा तो उससे 150 रुपए जुर्माना वसूल किया जाएगा। इसी प्रकार गाय-भैंस वर्ग में अगर लाइसैंस निर्धारित तिथि तक रिन्यू नहीं करवाया जाएगा तो मालिक को 200 रुपए जुर्माना अदा करना पड़ेगा। उक्त योजना पर सरकार जल्द ही मोहर लगाने जा रही है जिससे जानवर प्रेमियों पर करोड़ों रुपए का नया बोझ पडऩे के आसार हैं। 


क्या कहते हैं पशु प्रेमी:
पशु प्रेमी व पूर्व पार्षद विजय कुमार ने कहा कि सरकार पहले ही गौ सैस के नाम पर मोटी रकम वसूली कर रही है जबकि लावारिस पशुओं की समस्या का कोई समाधान नहीं किया जा रहा। उन्होंने कहा कि सरकार पशु पालने पर टैक्स लगाकर लोगों पर करोड़ों रुपए का नया बोझ डाल रही है जिसे सहन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने ऐसा किया तो लोग इसके खिलाफ आवाज बुलंद करेंगे। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!