धमकियों के बावजूद नोटबंदी के खिलाफ धरने में शामिल हुए उद्यमी व व्यापारी

  • धमकियों के बावजूद नोटबंदी के खिलाफ धरने में शामिल हुए उद्यमी व व्यापारी
You Are HerePunjab
Saturday, December 17, 2016-8:16 AM

लुधियाना (संदीप): इंडस्ट्री व ट्रेड के आह्वान पर फास्टनर एसोसिएशन के नेतृत्व में नोटबंदी के खिलाफ किया गया धरना-प्रदर्शन राजनीतिक पार्टियों द्वारा भारत बंद के आह्वान से ज्यादा सफल रहा। 


प्रधान नरिन्द्र भंवरा की आवाज पर विश्वकर्मा चौक में लगभग 30 के करीब संस्थाएं शामिल हुईं। प्राप्त जानकारी के अनुसार धरने को विफल करने के लिए तथाकथित नेताओं द्वारा व्यापारियों व उद्यमियों को धरने में न शामिल होने हेतु धमकाने का भी प्रयास किया गया परंतु विभिन्न शहरों के औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों, व्यापारियों व उद्यमियों के बढ़चढ़ कर भाग लेने से यह प्रमाणित हो गया कि सामान्य उद्यमी व व्यापारी नोटबंदी के लिए लागू कार्यप्रणाली से त्रस्त हैं।  हालांकि कल तक धरने व प्रदर्शन का समर्थन कर रही अकाली-भाजपा की ठप्पे वाली औद्योगिक संस्थाएं व उनके प्रतिनिधि नदारद रहे। तथाकथित व्यापारी नेताओं को दरकिनार कर ट्रेड व इंडस्ट्री द्वारा किए गए प्रदर्शन में उपस्थित सभी उद्यमियों व संगठनों के प्रतिनिधियों ने खुलकर अपनी भड़ास निकाली। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!