अमरीकन सोसायटी ने LPU के रिसर्च को विश्व के टॉप रिसर्च कार्यों में पहचाना

  • अमरीकन सोसायटी ने LPU के रिसर्च को विश्व के टॉप रिसर्च कार्यों में पहचाना
You Are HerePunjab
Tuesday, June 20, 2017-1:18 AM

जालंधर(दर्शन): क्रायोजैनिक सोसायटी ऑफ अमरीका (सी.एस.ए.), जोकि अति निम्न स्तरीय तापमान के लिए साइंस व आर्ट की एक सोसायटी है, ने लवली प्रोफैशनल यूनिवर्सिटी के फैकल्टी मैंबर द्वारा समाज की आवश्यकताओं के अनुसार  किए गए रिसर्च कार्यों की पहचान विश्व के टॉप रिसर्च कार्यों में की है। 

सी.एस.ए. ने एल.पी.यू. के रिसर्चर डॉ. राजा सेखर डोंडापती के कई हाई टैम्प्रेचर सुपर कंडक्शन (एच.टी.एस.) व स्टोरेज  उपकरणों को मान्यता दी है, जिनमें केबल्स, मोटर्स, पॉवर जैनरेटर्ज आदि शामिल हैं। क्रायोजैनिक्स में पी.एचडी. डा. डोंडापती ने न्यूक्लीयर फ्यूजन टैकनोलॉजी के विकास के प्रति भी महत्वपूर्ण योगदान किया है। यहां तक कि ‘मारकीज हू इज हू ऑफ द वल्र्ड’ ने भी डा. डोंडापती के नाम को महान रिसर्च प्राप्तियों के लिए अपने प्रकाशन में शामिल किया है। आंध्रप्रदेश से सम्बन्धित डा. डोंडापती का कहना है कि मेरे गुरु प्रो डा. वी.वी. रॉव, जिन्होंने भारत के पूर्व राष्ट्रपति स्व. अब्दुल कलाम के साथ ब्रह्मोस सुपर सोनिक क्रूज मिजाइल के लिए काम किया है, ने मुझे हमेशा ही प्रेरित किया कि मैं अपने रिसर्च कार्यों में रचनात्मक बनूं। मैं खुश हूं कि मेरे रिसर्च कार्य वैश्विक समाज को विभिन्न क्षेत्रों में सहायक होने जा रहे हैं। 

इनके द्वारा इन-विटरो फर्टीलाइजेशन, मैगनैटिक रैजोनैंस इमेजिंग जोकि सीटी स्कैन से कहीं ज्यादा श्रेष्ठ है, अति उच्च तापमान पर ठंडी विधियां कायम रखने के लिए इसरो के लिए क्रायोजैनिक इंजन, तीव्र गति से चलने वाली ट्रेन आदि में सहायता मिलेगी। एल.पी.यू. में किए गए इन रिसर्च कार्यों से हमने देश की टॉप 3 आई.आई.टी. संस्थानों (खडग़पुर, मद्रास, बाम्बे) के रिसर्च कार्यों से मुकाबला किया है। चांसलर अशोक मित्तल ने एल.पी.यू. में सभी का आह्वान किया कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में रिसर्च उन्मुख रहें। एल.पी.यू. में हमारे रिसर्च उन्मुख विद्यार्थियों तथा फैकल्टी सदस्यों को अवसर दिए जाते हैं कि वे अपने-अपने प्रोजैक्ट के प्रति योजनाबद्ध हों, उनका संगठन करें और उनकी देख-रेख करें।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!