'ब्लू व्हेल गेम' के अंतिम टास्क को पूरा करने करने के लिए मौत के पास पहुंची लड़की

  • 'ब्लू व्हेल गेम' के अंतिम टास्क को पूरा करने करने के लिए मौत के पास पहुंची लड़की
You Are HerePunjab
Friday, September 15, 2017-11:09 AM

जालंधर(महेश): थाना लांबड़ा के गांव संगल सोहल निवासी 12वीं क्लास की एक छात्रा वीरवार सुबह ब्लू व्हेल गेम के अंतिम टास्क को पूरा करने के लिए नैशनल हाईवे पर आते धन्नोवाली रेलवे फाटक पर ट्रेन के आगे कूद कर खुदकुशी करने पहुंची। ट्रेन आने से पहले जब वह रेल ट्रैक के बीच घूम रही थी तो वहां से निकल रहे कुछ लोगों तथा फाटक पर तैनात गेटमैन की नजर उस पर पड़ी।

PunjabKesariउन्हें लगा कि युवती सुसाइड करने यहां आई है, जिस पर उन्होंने उसे बचा लिया और इस संबंधी रेलवे पुलिस चौकी जालंधर कैंट को सूचित किया, जिसके बाद ए.एस.आई. पवन कुमार व हैड कांस्टेबल हरिन्द्र सिंह लेडीज पुलिस सहित मौके पर पहुंचे और उक्त युवती को पहले रेलवे पुलिस चौकी कैंट व उसके बाद सिटी रेलवे पुलिस स्टेशन ले गए। युवती की पहचान नवप्रीत कौर (19) पुत्री जसवंत सिंह के रूप में हुई है। जानकारी मिली है कि नवप्रीत अपने मोबाइल पर ब्लू व्हेल गेम खेल रही थी और गेम के अंतिम टास्क के तहत ट्रेन के आगे कूद कर जान देने के लिए धन्नोवाली रेलवे फाटक पर पहुंच गई। सिटी रेलवे पुलिस स्टेशन द्वारा नवप्रीत के परिजनों को जानकारी दी गई, जिसके बाद उसके पिता जसवंत सिंह व परिवार के अन्य सदस्य सिटी रेलवे पुलिस स्टेशन पहुंच गए। थाने में एस.एच.ओ. बलदेव सिंह रंधावा व पत्रकारों की मौजूदगी में उसने कहा कि सुसाइड करने का उसका कोई इरादा नहीं था और न ही उसका मामला ब्लू व्हेल गेम से जुड़ा हुआ है। इस गेम के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। वैसे भी उसका मोबाइल फोन घर में पड़ा है, जिस पर उसने कभी कोई गेम नहीं खेली। उसके बारे में की जा रही ये सब बातें झूठी हैं। वह सिर्फ घूमने के लिए घर से निकली थी।  

 

ट्रैक से जबरन बाहर न निकालते तो जा सकती थी नवप्रीत की जान
घटनास्थल पर एकत्र लोगों का कहना था कि अगर वे नवप्रीत को जबरन ट्रैक से बाहर न निकालते तो उसकी जान भी जा सकती थी, क्योंकि उस समय ट्रेन आने में केवल 2 मिनट ही रहते थे। एक व्यक्ति ने बताया कि लड़की बोल रही थी कि कोई भी उसकी लाइफ में दखल न दे। उसकी गेम का अंतिम टास्क है, जिसे खराब न किया जाए। उसे कहा गया कि ट्रैक पर खड़े रहने से उसकी जान को खतरा हो सकता है तो उसने कहा कि वह जानती है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं होगा। उसने कहा कि वह सुसाइड करने नहीं जा रही है। मौके पर मौजूद लोगों के बयानों से भी जाहिर होता है कि नवप्रीत का मामला ब्लू व्हेल गेम से जुड़ा हुआ है, लेकिन थाने में जाकर उसने इससे इंकार कर दिया। कहा जा रहा है कि कानूनी कार्रवाई के डर से ही पूरे मामले को बदल दिया गया है।

रेलवे पुलिस ने नवप्रीत को किया परिजनों के हवाले
रेलवे पुलिस ने अपनी कार्रवाई पूरी करने के बाद नवप्रीत को उसके परिजनों के हवाले कर दिया। एस.एच.ओ. बलदेव सिंह रंधावा का कहना है कि युवती व उसके पिता जसवंत सिंह ने ब्लू व्हेल गेम के तहत सुसाइड जैसे किसी भी मामले से इन्कार किया है, जिसके चलते इस मामले में पुलिस ने किसी तरह की कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की है। 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन