• गंभीर समस्याओं से जूझ रहा बाघापुराना
    गंभीर समस्याओं से जूझ रहा बाघापुराना
  • बाघापुराना (राकेश): कस्बा पिछले 5 वर्षों से गंभीर समस्याओं से जूझ रहा है लेकिन सरकार ने नए विकास प्रोजैक्टों के लिए कोई ग्रांट नहीं दी, बल्कि शहर में बना बस स्टैंड भी नगर कौंसिल की जगह को ठेके पर देकर उससे सिक्योरिटी द्वारा एकत्रित की 8 करोड़ रुपए राशि में बनाया गया है।

    जानकारी अनुसार कौंसिल को सरकार ने कोई ग्रांट नहीं दी, जबकि कौंसिल ने 1.19 करोड़ रुपए बस स्टैंड, 1.39 करोड़ रुपए बस स्टैंड के अंदर बनाई दुकानों तथा 1.5 करोड़ रुपए कौंसिल के दफ्तर पर खर्च करने के अलावा 4 करोड़ रुपए शहर की नालियों पर खर्च किए हैं, दूसरी तरफ शहर में 2011 में बादल सरकार ने सीवरेज की स्कीम दी थीं, जिस पर करीब 28 करोड़ रुपए की राशि खर्च आना था, जो मुकम्मल होकर सारे शहर का सीवरेज इस वर्ष में चालू होना था। लोगों ने बताया कि सरकार ने शहर की सहूलियत के लिए कोई ग्रांट नहीं दी तथा न ही लोगों को मूलभूत सहूलियतें मिली हैं, जबकि अकाली सरकार एक सीवरेज को भी मुकम्मल नहीं करवा सकी तथा और नए प्रोजैक्ट कहां से लाएंगे।


Political Memories