युवकों ने सरकारी अस्पताल के डाक्टर व कर्मचारियों से किया दुर्व्यवहार

  • युवकों ने सरकारी अस्पताल के डाक्टर व कर्मचारियों से किया दुर्व्यवहार
You Are HerePunjab
Tuesday, June 20, 2017-2:00 PM

अबोहर (भारद्वाज, रहेजा, नागपाल): सिविल अस्पताल के एमरजैंसी में सड़क हादसे में घायल हुए मरीज के परिजनों द्वारा डाक्टरों से दुव्र्यवहार एवं हमला किए जाने के मामले में डाक्टरों में भारी रोष पाया गया। घटना का समाचार मिलने पर पुलिस अधिकारी अस्पताल में पहुंचे और डाक्टरों के बयान कलमबद्ध कर कार्रवाई शुरू कर दी।  

क्या है मामला
थाना नंबर-1 के प्रभारी गुरमीत सिंह, एस.आई. देवेन्द्र सिंह व ए.एस.आई. रविन्द्र कुमार को एमरजैंसी के डाक्टर राहुल, फार्मासिस्ट इंसाफ व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राजीव ने बताया कि गत रात्रि करीब 10:30 बजे एमरजैंसी में राहुल पुत्र कृष्ण कुमार निवासी रामदेव नगरी गली नंबर-2 सड़क हादसे में घायल होने पर इलाज के लिए आया तो उन्होंने उसका इलाज शुरू कर दिया। इसी दौरान एक बूढ़ी महिला गंभीर हालत में इलाज के लिए आई, जिसका इलाज उन्होंने शुरू किया तो राहुल के साथ आए तीनों युवकों ने राहुल की कागजी कार्रवाई पहले करने को लेकर उनसे दुव्र्यवहार किया तथा बीच-बचाव में फार्मासिस्ट इंसाफ व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी राजीव कुमार सहित होमगार्ड जवान के साथ गाली-गलौच की और एमरजैंसी में पड़े मेज पर पड़ा सामान बिखेर दिया।हुड़दंग मचा रहे नशे में धुत्त तीनों युवकों को पुलिस ने किया काबू घटना की जानकारी मिलने पर थाना नंबर-1 के पुलिस कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर हुड़दंग मचा रहे नशे में धुत्त तीनों युवकों को काबू कर अपने साथ ले गए। 

डाक्टरों ने हमलों का समाधान निकालने की मांग की
इस घटना को लेकर डाक्टरों में भारी रोष पाया गया और उन्होंने एस.एम.ओ. डा. लाल चंद ठकराल से बैठक कर रोज होने वाले इन हमलों का समाधान निकालने की मांग की। जिस पर डा. ठकराल ने एस.पी. अमरजीत से फोन पर बात कर उन्हें पूरी घटना से अवगत करवाते हुए अस्पताल में पुलिस कर्मचारी बढ़ाने की मांग की। एस.पी. ने आश्वासन दिया कि शीघ्र ही अस्पताल में सुरक्षा हेतु दो-दो पुलिस कर्मचारी दिन-रात की ड्यूटी के लिए लगाए जाएंगे। डा. ठकराल ने बताया कि एक सप्ताह के भीतर अस्पताल में 24 बढिय़ा क्वालिटी के सी.सी.टी.वी. कैमरे लगा दिए जाएंगे। डाक्टर युधिष्टर चौधरी, डा. गगनदीप सिंह, डा. अमन नागपाल, डा. महेश, डा. साहबराम, डा. चरणजीत सिंह, डा. संदीप सिंगला, डा. मुकेश, डा. नीरजा गुप्ता, फार्मासिस्ट मनदीप, दर्शन, राकेश, गुरजिंद्र आदि ने बैठक कर उन पर किए गए हमलों पर रोष जताया तथा पुलिस अधिकारियों से उक्त हमलावरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर जल्द ही उक्त युवकों पर कार्रवाई न की गई तो वे संघर्ष करने पर मजबूर होंगे। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!