कैप्टन अमरेन्द्र गैर-हाजिर मुख्यमंत्री : सुखपाल खैहरा

  • कैप्टन अमरेन्द्र गैर-हाजिर मुख्यमंत्री : सुखपाल खैहरा
You Are HerePunjab
Wednesday, July 26, 2017-9:00 AM

कपूरथला(मल्होत्रा): पंजाब विधान सभा चुनावों के बाद सत्ता में आई कांग्रेस पार्टी ने 4 माह बीत जाने के बाद भी कोई भी काम अलग से करके नहीं दिखाया। कांग्रेस सरकार के मंत्रियों व विधायकों के केवल पगडिय़ों व कपड़ों के रंग ही बदले हैं लेकिन काम तो पूरी तरह से अकाली-भाजपा गठबंधन सरकार की तर्ज पर हो रहा है। ये शब्द पंजाब विधान सभा में विपक्ष के नेता एवं भुलत्थ से ‘आप’ विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने कपूरथला में एक पत्रकार सम्मेलन दौरान कहे। 


खैहरा ने कहा,‘‘कैप्टन अमरेन्द्र सरकार में विद्युत व सिंचाई मंत्री बने राणा गुरजीत सिंह जो खुद को पंजाब में सबसे अमीर आदमी मानते हैं लेकिन सरकार बनने के तुरन्त बाद रेत की खड्ढ का अपने रसोइए के नाम ठेका लेकर यह साबित कर दिया कि उसे सबसे अधिक पैसे की भूख है। उन्होंने कहा कि इससे भी बड़े-बड़े मामले जो लोगों ने बताए हैं व कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह से संबंधित हैं उनका खुलासा भी वह जल्दी ही करेंगे। उन्होंने बताया कि 4 माह के शासन काल में दर्जनों किसानों ने आत्महत्याएं की हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी ने चुनाव दौरान किसानों का कर्ज माफ करने का मुद्दा बनाकर चुनाव जीता है। 

 

बाबू व अफसर चला रहे हैं सरकार 
उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंन्द्र सिंह को गैर-हाजिर मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि वह पंजाब में रहते ही नहीं हैं। अपने 4 माह के शासन काल दौरान कुछ ही समय पंजाब में रहे हैं। वह अपने मंत्रियों व विधायकों को भी नहीं मिलते। वहीं पंजाब में विकास पूरी तरह से रुका हुआ है और सरकार तो बाबू लोग व अफसर चला रहे हैं। इस अवसर पर आम आदमी पार्टी नेता चरणजीत हंस, कंवर इकबाल सिंह, गुरपाल, प्यारा सिंह, दारा सिंह, प्रेम सल्होत्रा, मुनीष सभ्रवाल, सतनाम सिंह, कुलविन्द्र सिंह चाहल आदि उपस्थित थे। 

 

पीड़ित परिवार को दी आॢथक सहायता 
विगत माह दौरान गरीबी से तंग आकर जहर मिला बर्गर खाकर एक परिवार के मरने वाले 5 सदस्यों वाले पीड़ित परिवार के घर विपक्ष के नेता सुखपाल सिंह खैहरा अपने वर्करों के साथ पहुंचे। खैहरा ने पीड़ित परिवार को 50,000 रुपए की राशि अपनी जेब से दी।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!