शिमला जानों वालों को पहुंचने पर नहीं मिलेंगे होटल या गैस्ट हाऊस में कमरें

  • शिमला जानों वालों को पहुंचने पर नहीं मिलेंगे होटल या गैस्ट हाऊस में कमरें
You Are HereShimla
Thursday, December 07, 2017-12:03 PM

लुधियानाः हर वर्ष सर्दियों में लाखों सैलानी शिमला घूमने तथा वहां पड़ती बर्फबारी का आनंद लेने के लिए जाते हैं। ऊंची पहाड़ियों पर स्थित इस केंद्र पर जब भारी बर्फबारी पड़ती है तो बड़ी तदाद में सैलानी यहां पहुंचते हैं जिससे आम जनजीवन प्रभावित होने लगता है। नतीजन आवाजाही समस्या,सड़क हादसे,स्वास्थय सुविधाएं,होटलों में कमरों की कमी,बिजली तथा पानी की कमी भी पैदा हो जाती है। इन सभी परेशानियों को कम करने के लिए जिला प्रशासन शिमला की ओर से पंजाब ,चंडीगढ़ तथा हरियाणा के प्रशासन से सहयोग की मांग की है।

 

इस संबंध में शिमला के डिप्टी कमिश्नर रोहन चंद ठाकुर ने विभिन्न डिप्टी कमिश्नरों को पत्र लिखकर सैलानियों के लिए कुछ हिदायत जारी करने की अपील की है। पत्र में लिखा है कि घूमने के लिए आने से पहले सैलानी बाकायदा होटलों या गैस्ट हाऊस में बुकिंग करवा कर ही आएं,क्योंकि  मौके पर कमरा न मिलने कारण सैलनियों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!