जालंधर का 10 वर्षीय तन्मय बना चैस का कैंडीडेट मास्टर

  • जालंधर का 10 वर्षीय तन्मय बना चैस का कैंडीडेट मास्टर
You Are HerePunjab
Wednesday, April 12, 2017-12:55 PM

जालन्धर: शहर के जूनियर चैस खिलाड़ी तन्मय जैन ने पंजाब का पहला कैंडीडेट मास्टर (सी.एम.) होने का खिताब हासिल कर लिया है। तन्मय को यह खिताब ताशकंद में हुई एशियन यूथ चैस चैम्पियनशिप की अंडर-10 में कांस्य पदक जीतने के बाद मिला। एशियन चैम्पियनशिप में पहले 3 स्थानों पर रहने वाले खिलाडिय़ों को यह खिताब मिलता है। यह टूर्नामैंट 31 मार्च से 10 अप्रैल तक चला और इसमें लगभग 15 देशों के 37 बच्चे अंडर-10 वर्ग में हिस्सा ले रहे थे। तन्मय ने लगातार 10 दिन अपनी अच्छी खेल का प्रदर्शन करते हुए यह खिताब हासिल किया। तन्मय ने कुल 9 राऊंड खेले, जिनमें से उस ने 5 राऊंडों में जीत हासिल की, जबकि उसके 3 राऊंड ड्रा रहे और एक राऊंड में हार का सामना करना पड़ा।

जालंधर और खास तौर पर पंजाब के लिए यह गर्व वाली बात है कि 10 साल का बच्चा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन कर रहा है। इस सफलता के पीछे तन्मय की मेहनत साथ-साथ उस के स्कूल के सहयोग का भी बड़ा हाथ है। क्योंकि सालाना परीक्षा दौरान स्कूल की तरफ से तन्मय को पेपरों में छूट दी गई थी।’’  -पंकज जैन, तन्मय के पिता

मुझे बहुत खुशी हो रही है कि मैं इस टूर्नामैंट में देश के लिए कांस्य पदक हासिल करन में कामयाब हुआ। हालांकि मेरा स्वप्न सोने का तमगा जीतने का था परन्तु इस टूर्नामैंट से मैं बहुत कुछ शिक्षा है और भविष्य में होने वाले बड़े टूर्नामेंटों में मैं ओर मेहनत करके ग्रेड मास्टर बनने का अपना स्वप्न पूरा करन की पूरी कोशिश करूँगा।’’
- तन्मय जैन, कैंडीडेट मास्टर

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You