सिख आतंकवादी नहीं, सत्यवादी : ज्ञानी गुरबचन सिंह

  • सिख आतंकवादी नहीं, सत्यवादी : ज्ञानी गुरबचन सिंह
You Are HereLatest News
Tuesday, November 07, 2017-2:44 PM

अमृतसर(ममता): श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने अमरीका के न्यूजर्सी शहर में मेयर पद के सिख उम्मीदवार रवीन्द्र भल्ला को आतंकवादी कहे जाने की कड़े शब्दों में ऩिंदा की है। उन्होंने कहा कि सिख आतंकवादी नहीं बल्कि सत्यवादी हैं और हमेशा अत्याचार के विरुद्ध आवाज उठाते रहे हैं और हर तरह से कुर्बानी देकर कर समूह मानवता के कल्याण की बात करते हैं।

अमरीका जैसे देश में एक सिख प्रतिनिधि को आतंकवादी करार देने वाले पोस्टर की तुरंत जांच होनी चाहिए। इसके लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को अमरीका से संपर्क कर सिखों की स्थिति से अवगत करवाना चाहिए और अपने स्वार्थों के लिए जो लोग सिखों को आतंकवादी बता रहे हैं, उनके विरुद्ध सरकार को उचित कदम उठाने चाहिए। उल्लेखनीय है कि मेयर के पद के लए सिख उम्मीदवार रवीन्द्र भल्ला के विरोधी उम्मीदवार माइक्रोफोन डी. यूस्को की ओर से ऐसे पोस्टर लगाए जाने की बात सामने आई है। अमरीका को इसका तुरंत नोटिस लेने की बात करते उन्होंने कहा कि अमरीका को चाहिए कि वह सिखों की भावनाओं को समझे और उनको गलत तरीके से पेश करने वालों के विरुद्ध शिकंजा कसे। कुछ शरारती तत्व सिख पंथ को बदनाम करने पर तुले हुए हैं।

सिख इतिहास का हवाला देते उन्होंने कहा कि सिख हमेशा मानवता के कल्याण हेतु काम करते आए हैं। वह एक शांतिप्रिय कौम है। इन्हें आतंकवादी कहा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने केंद्र सरकार से अपील की कि वह अमरीका की सरकार से गंभीरता के साथ विचार करे जिससे अमरीका में सिखों पर होने वाले नस्लीय हमलों को पूर्ण तौर पर रोका जा सके। अमरीका के स्कूल-कालेजों में भी सिखी का प्रचार किया जाए जिससे वहां के लोगों को सिख धर्म और सिखों के बारे अवगत करवाया जा सके। उन्होंने बङ्क्षठडा में गुरु पर्व दौरान हुई घटना को भी दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इस की जांच करवाने के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी को निर्देश दिए गए हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!