फर्जी पावर ऑफ अटॉर्नी को लेकर हरकत में आई पुलिस

Edited By Urmila, Updated: 17 Jun, 2022 01:32 PM

police swung into action regarding fake power of attorney

पंजाब केसरी द्वारा फर्जी पावर ऑफ अटॉर्नी और फर्द रजिस्ट्री का मामला प्रमुखता से रजिस्ट्री कार्यालय-3 में प्रकाशित होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है। जानकारी अनुसार सब-रजिस्ट्रार-3 हरकर्म सिंह रंधाव ...

अमृतसर (नीरज): पंजाब केसरी द्वारा फर्जी पावर ऑफ अटॉर्नी और फर्द रजिस्ट्री का मामला प्रमुखता से रजिस्ट्री कार्यालय-3 में प्रकाशित होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है। जानकारी अनुसार सब-रजिस्ट्रार-3 हरकर्म सिंह रंधाव की हिदायतों पर पुलिस द्वारा 2 नंबरदारों सहित 4 व्यक्तियों खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज कर दी गई है। इस ममले की जांच शुरू करते हुए पुलिस मुलाजिम वासिका नवीस व जाली फर्द वाली रजिस्ट्री के मामले भी एक अन्य वासिका नवीस की तलाश में लगी हुई है। 

माना जा रहा है कि आरोपी वासिका नवीस को कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है। जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है उनमें नंबरदार निशान सिंह, नंबरदार अमरीक सिंह, करनैल सिंह और सरदूल सिंह शामिल हैं। पूरे मामले में आरोपी की कानूनी धारा के तहत तलाश की जा रही है।

डी.सी. को वासिका नवीस यूनियन के पदाधिकारियों ने उनसे मुलाकात की
रजिस्ट्री कार्यालय व तहसील में फर्जी रजिस्ट्री व पावर ऑफ अटॉर्नी के मामले को वासिका नवीस यूनियन ने काफी गंभीरता से लिया है। केंद्रीय जिलाध्यक्ष नरेश शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने डी.सी. हरप्रीत सिंह ने सूदन और तहसीलदारों से मुलाकात की और यूनियन ने मांग की है कि कथित बिना लाइसेंसधारी वासिका नवीसा के खिलाफ जिला अदालत में जाए बिना सख्त कार्रवाई की जाए। ऐसे लोग लाइसेंस लेकर ईमानदारी से काम करने वाली वासिका नवीसा को भी बदनाम करते हैं। यदि वासिका नवीस सही हैं तो नकली पावर ऑफ अटॉर्नी और फर्द रजिस्ट्री कभी नहीं हो सकती, क्योंकि वासिका नवीस पहले दस्तावेजों की जांच करती है और सही वासिका नवीस कभी भी गलत करने की सिफारिश नहीं करती है।

50 से अधिक वासिका-नवीस जिला न्यायालय में घूम रहे हैं
लाइसेंस और बिना लाइसेंस वाली वासिका नवीसा की संख्या पर एक नजर डालने से पता चलता है कि जिला अदालत में लगभग 50 ऐसी कथित वासिका नवीसा हैं जिनमें से कुछ लाइसेंस प्राप्त वासिका नवीसा के रजिस्टर पर काम करती हैं। वासिका-नवीस यूनियन ने फैसला लिया है कि ऐसे किसी भी कथित वासिका-नवीस को अब उसके रजिस्टर में एक एंट्री दर्ज करके काम करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। यूनियन ने अधिकारियों से अपील की है कि बिना लाइसेंस वाले वासिका नवीस को रजिस्ट्री कार्यालय और तहसील में प्रवेश नहीं करने दिया जाए।

एन.ओ.सी. लागू होने के बाद बढ़े धोखाधड़ी के मामले
जब से सरकार एन.ओ.सी. कानून को सख्ती से लागू किया है तब से ही रजिस्ट्री कार्यालयों और तहसीलों में धोखाधड़ी के मामलों की संख्या बढ़ती ही जा रही है, जिससे अधिकारी सतर्क हो गए हैं और रजिस्ट्रियों में लगने वाले दस्तावेजों की पूरी तरह से जांच करने के बाद रजिस्ट्री करते हैं।

फर्जी पंजीकरण या फर्जी मुख्तारनामा करने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा और कानून के अनुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी। गैर-लाइसेंसी व कथित वासिका नवीसों को जिला अदालत में अंदर दाखिल होने नहीं दिया जाएगा।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!