पंजाब सरकार की शराब पालिसी की सरेआम उड़ी धज्जियां

  • पंजाब सरकार की शराब पालिसी की सरेआम उड़ी धज्जियां
You Are HerePunjab
Friday, April 21, 2017-10:22 AM

जालंधर(महेश): पंजाब सरकार की शराब पालिसी की सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, जिसकी उदाहरण वीरवार शाम को थाना सदर के गांव फोलड़ीवाल में उस समय देखने को मिली जब गांव के अड्डे पर स्थित शराब के ठेके पर देसी शराब (पंजाब किंग्ज, क्लब, रम, कैश, सौंफिया, क्लब व्हिस्की) के रेट की लगी हुई लिस्ट पर 220 रुपए वाली बोतल का रेट 160 रुपए लिखा पाया गया। 

आधा 80 रुपए, क्वार्टर 40 रुपए लिखा हुआ था। इस ठेके पर खुली शराब बेच कर भी सरकारी द्वारा लगाई गई पाबंदी की भी धज्जियां उड़ती दिखीं। सरेआम लोग शराब पीते दिखे। अधिक ठेकों पर कैश 300 रुपए, सौंफिया 250 रुपए व पंजाब किंग्ज 290 में बिक रही है। वर्णनीय है कि पंजाब की नई कैप्टन सरकार ने शराब पालिसी में कई तब्दीलियां लाते हुए अंग्रेजी व देसी शराब के रेट में भारी कमी की थी लेकिन फोलड़ीवाल में ऐसा देखने को मिला कि कुछ ठेकेदार सरकार की पॉलिसी को मजाक समझते हैं और अपनी मनमर्जी के रेट पर शराब बेच रहे हैं। फोलड़ीवाल अड्डे में ठेके पर बिकती सस्ती शराब के कारण यहां लोगों का जमावड़ा लगा हुआ था जो कि आस-पास के दूसरे गांवों से भी आए हुए थे। 

कुछ लोगों ने इस शराब पर यह भी शक जाहिर किया है कि कहीं सस्ती शराब की आड़ में घटिया शराब तो नहीं बेची जा रही, जो कि किसी के लिए खतरा न बन जाए। कहा जा रहा था कि सरकार द्वारा शराब के रेट में की गई वृद्धि से शराब पीने वाले लोगों में काफी कमी आएगी क्योंकि महंगी शराब पीना हर किसी के बस की बात नहीं है। उक्त संबंध में ई.टी.ओ. नीरज शर्मा से बात की गई तो उन्होंने भी हैरानी जताई और कहा कि वह शुक्रवार को सुबह विभाग के एरिया इंस्पैक्टर पुरुषोत्तम पठानिया को मौके पर भेज कर पूरे मामले की जांच करवाएंगे। निर्मल नामक ेके के कारिंदे ने कहा कि उसके पास जो लिस्ट आई थी, उसी को बाहर लगाया गया है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!