बर्खास्त इंस्पैक्टर इंद्रजीत सिंह ने शुरू किया था यह खेल

  • बर्खास्त इंस्पैक्टर इंद्रजीत सिंह ने शुरू किया था यह खेल
You Are HerePunjab
Friday, October 13, 2017-8:17 AM

जालंधर (रविंदर शर्मा): पंजाब में बुजुर्ग दम्पति से फिरौती वसूलने के खेल में हाईकोर्ट ने सख्त रुख अख्तियार किया है। हाईकोर्ट ने शिकायतकर्ता की याचिका पर गंभीर संज्ञान लेते हुए होम सैक्रेटरी पंजाब को नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही इस मामले में डी.जी.पी. पंजाब, एस.एस.पी. कपूरथला व एस.एच.ओ. सिटी थाना फगवाड़ा को भी जवाब देना होगा। पुलिस की ओर से हाईकोर्ट की ओर से पहले दर्ज केस में स्टे ऑर्डर देने के बावजूद 72 साल के सोहन सिंह को एक अन्य मामले में परेशान किया जा रहा था। बुजुर्ग दम्पति से फिरौती वसूलने के इस गंदे खेल में कई पुलिस अधिकारी व राजनेता भी शामिल हैं।

एयरफोर्स से रिटायर 72 साल के सोहन सिंह अपनी पत्नी वीना के साथ अकेले न्यू मानव नगर में रहते हैं और उनके 2 बेटे लोकेश व लोहित लंबे समय से दुबई में सैटल हैं। पहले मामले में सोहन सिंह के खिलाफ बैल्जियम में बसे सर्बजीत सिंह ने शिकायत की थी और पुलिस ने इस मामले में बिना जांच किए उनके खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज कर लिया था।

सोहन सिंह का आरोप था कि ड्रग माफिया के साथ सांठगांठ रखने वाले इंद्रजीत सिंह ने 3 सितम्बर 2016 को उनके घर छापामारी कर फिरौती वसूलने के गंदे खेल की नींव रखी थी। मामला अदालत में ले जाने पर अदालत ने इस एफ.आई.आर. पर स्टे लगा दिया। सोहन सिंह का आरोप था कि इंस्पैक्टर इंद्रजीत सिंह के सामने ही सर्बजीत सिंह ने 10 करोड़ वसूलने की धमकी दी थी और कहा था कि अगर यह रकम न दी तो उनके दोनों बेटों को मरवा देगा। सोहन सिंह के खिलाफ दूसरी शिकायत कुछ दिन पहले सुरिंद्र कुमार निवासी यू.के. ने दर्ज करवाई थी, जिसमें कहा गया है कि उनके दोनों बेटों को दुबई में बिजनैस सैटल करने के लिए 3 करोड़ रुपए की राशि नवम्बर 2015 में दी गई। सोहन सिंह का कहना है कि उनसे फिरौती वसूलने का यह अजब खेल चल रहा है।

जिन बेटों को वह 10 साल पहले बेदखल कर चुके हैं, उन बेटों को उनकी मौजूदगी में इतनी भारी-भरकम राशि कैसे दी जा सकती है? सोहन सिंह का आरोप है कि पूरे मामले में न केवल पुलिस अधिकारी बल्कि कुछ पत्रकार व राजनेता भी मिले हुए हैं। ऐसा खेल कई बुजुर्गों के साथ चल रहा है, जिनके बेटे विदेशों में बसे हुए हैं। इस मामले में सोहन सिंह ने हाईकोर्ट का रुख किया था।

हाईकोर्ट ने गंभीर संज्ञान लेते हुए इस मामले में होम सैक्रेटरी पंजाब, डी.जी.पी., एस.एस.पी. कपूरथला व एस.एच.ओ. फगवाड़ा को नोटिस जारी किया है और पूछा है कि पहले मामले में स्टे देने के बाद भी बिना पड़ताल किए सोहन सिंह को क्यों परेशान किया जा रहा है? साथ ही कहा है कि 7 दिन के एडवांस नोटिस के बाद ही पुलिस सोहन सिंह को किसी भी मामले में सम्मन कर सकेगी। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!