वन विभाग की भूमि पर अवैध कब्जे सख्ती से हटाएंगे : धर्मसोत

  • वन विभाग की भूमि पर अवैध कब्जे सख्ती से हटाएंगे : धर्मसोत
You Are HereLatest News
Wednesday, November 22, 2017-2:00 PM

चंडीगढ़ (कमल): पंजाब के वन विभाग और वन्य जीव सुरक्षा मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने कहा है कि सूबे में वन विभाग की भूमि पर किए गए अवैध कब्जों को सख्ती से हटाया जाएगा। यह जानकारी वन भवन, एस.ए.एस. नगर (मोहाली) में उन्होंने प्रैस कान्फ्रैंस के दौरान दी। धर्मसोत ने कहा कि राज्यभर में लगभग 30 हजार एकड़ क्षेत्रफल पर अवैध कब्जे किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इसमें से जिला अमृतसर के 7500 एकड़, लुधियाना के 5000 एकड़, जालंधर के 3000 एकड़, फिरोजपुर के 2500 एकड़, पटियाला के 150 एकड़ और होशियारपुर के 11 एकड़ जमीन पर अवैध कब्जे हैं।

उक्त अवैध कब्जों वाली जमीन संबंधी 21,000 के करीब केस विभिन्न अदालतों में विचाराधीन हैं और बिना मामलों/केसोंं वाली जमीन पर अवैध कब्जे हटाए जा रहे हैं। धर्मसोत ने कहा कि विभाग के उच्च अधिकारियों को राज्यभर में वन विभाग की जमीनों पर किए गए अवैध कब्जों को हटाने के लिए विशेष मुहिम चलाने के निर्देश दिए गए थे, जिसके अंतर्गत लुधियाना के वन विभाग के वन मंडल अधीन आते क्षेत्रों में अवैध कब्जे हटाने की मुहिम चलाई गई। उन्होंने बताया कि लुधियाना जिले के 2 गांवों, कोट उमरां और गोरसिया खान मोहम्मद में वन विभाग की कुल 392 एकड़ में से 225 एकड़ जमीन अवैध कब्जों अधीन थी, जबकि पी.पी. एक्ट के अंतर्गत 167 एकड़ बाकी जमीन के ऐसे 72 मुकद्दमे एस.डी.एम. के पास दर्ज हैं।

आने वाले दिनों दौरान सूबे के अन्य वन मंडलों अधीन आती 560 एकड़ वन विभाग की जमीन में से अवैध कब्जे छुड़ाने का कार्यक्रम तैयार हो चुका है। धर्मसोत ने कहा कि वन विभाग के अधीन जमीन पर अवैध कब्जे करने वाले दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी।  वन एवं वन्य जीव सुरक्षा मंत्री ने बताया कि कुछ दिन पहले लुधियाना के मत्तेवाड़ा क्षेत्र की 35 एकड़ अवैध कब्जे वाली जमीन सरकारी कब्जे अधीन लाई गई थी। इस मुहिम के अंतर्गत खाली करवाए इलाकों में 50,000 पौधे लगाए गए हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!