1 घंटे की बारिश से शहर पूरी तरह हुआ जल-थल

  • 1 घंटे की बारिश से शहर पूरी तरह हुआ जल-थल
You Are HerePunjab
Tuesday, September 12, 2017-11:30 AM

श्री मुक्तसर साहिब(तनेजा): लगभग 1 घंटा हुई तेज बारिश के बाद श्री मुक्तसर साहिब शहर में जल-थल हो गया। इस बारिश से भले उमस वाली गर्मी से लोगों को कुछ राहत मिली परंतु लोगों के लिए बाजारों में यह बारिश आफत बनकर ही आई। सुबह समय जैसे ही दुकानदारों ने दुकानों के शटर उठाए तो बारिश शुरू हो गई, जिस कारण पूरा दिन बाजारों में पानी भरने के कारण ग्राहकों की आमद न के बराबर ही रही व दुकानदार अपनी दुकानों पर खाली बैठे दिखाई दिए। 

शहर के मुख्य बाजार जल भराव की चपेट में 
श्री मुक्तसर साहिब के सभी मुख्य बाजार जिनमें मेन बाजार, रामबाड़ा बाजार, बैंक रोड, घास मंडी चौक, बाजार श्री दरबार साहिब, गोनियाना रोड, अबोहर रोड, शेर सिंह चौक, गांधी नगर, गांधी चौक, हकीमों वाली गली आदि बाजारों में बारिश का पानी भर गया। हालात इस तरह के बने गए कि कई बाजारों में तो दुकानें भी बंद रही। 

विजीलैंस कार्यालय में भरा बारिश का पानी
 कोटकपूरा रोड पर स्थित पुरानी कचहरियों के नजदीक स्थित विजीलैंस कार्यालय के अंदर बारिश का पानी भर गया। जिस कारण आने-जाने के लिए मुलाजिमों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। उक्त कार्यालय सड़क से काफी नीचा है व जब भी बारिश होती है तो यहां पानी भर जाता है। उल्लेखनीय है कि उक्त कार्यालय की इमारत भी खस्ता हालत में है व उपर से छतें भी खराब हो रही हैं। 

कई अन्य सरकारी कार्यालय भी आए पानी की चपेट में
बारिश के पानी की मार में कई सरकारी कार्यालय भी आ गए, स्थानीय कोटकपूरा रोड स्थित ब्लॉक विकास पंचायत अधिकारी कार्यालय में व उप कप्तान पुलिस के कार्यालय में पानी भर गया व बारिश के पानी के कारण आम जनता का यहां प्रवेश करना मुश्किल हो गया, वहीं स्थानीय कोटकपूरा रोड की कई गलियां भी बारिश के पानी की चपेट में आ गई हैं जिस कारण ये गलियां छप्पड़ का रूप धारण कर गई। मुख्य कोटकपूरा रोड पर स्थित कांग्रेसी नेता जगजीत सिंह बराड़ हन्नी फत्तनवाला की रिहायश पर भी बारिश का पानी भर गया व मुख्य रोड पर भी कई जगहों पर बारिश के पानी के कारण राहगीरों को मुश्किल पैदा हुई।

नई अनाज मंडी में भी हुई भरा पानी
स्थानीय नई अनाज मंडी में बारिश के पानी के कारण आढ़तियों व किसानों को समस्याओं का सामना करना पड़ा। हालात ये रहे कि दाना मंंडी के प्रवेश दरवाजों पर पानी भरने के कारण दुकानदारों को दुकान तक पहुंचना भी मुश्किल हो गया।

नरमे के लिए नुक्सानदायक है बारिश
किसानों की बात करें तो मालवे की यह पट्टी जो नरमा पट्टी के रूप में जानी जाती है, के किसानों की नरमे की फसल को बारिश के कारण नुक्सान हो सकता है। क्योंकि फसल कई जगहों पर पक चुकी है व कई जगहों पर पकने के करीब है, इस बारिश के कारण इस फसल का नुक्सान हो सकता है जबकि दूसरी ओर धान की फसल को इस बारिश से कोई भी फायदा या नुक्सान नहीं है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!