ग्रांटों के मामले में केंद्र द्वारा पंजाब से भेदभाव का मामला संसद सत्र में उठेगा : जाखड़

  • ग्रांटों के मामले में केंद्र द्वारा पंजाब से भेदभाव का मामला संसद सत्र में उठेगा : जाखड़
You Are HerePunjab
Thursday, December 14, 2017-5:42 PM

जालन्धर(धवन): पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने ऐलान किया है कि केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा ग्रांटों को देने के मामले में पंजाब से किए जा रहे भेदभाव का मामला संसद के शीतकालीन सत्र में कांग्रेसी सांसदों द्वारा जोर-शोर से उठाया जाएगा। आज दिल्ली में संसद भवन में औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए पहुंचे जाखड़ ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने अपने कार्यकाल के दौरान अकालियों की सरकार को मालामाल कर दिया था तथा ग्रांटों के खुले गप्फे प्रदान किए थे। गुरदासपुर लोकसभा सीट का उपचुनाव जीतने के बाद जाखड़ पहली बार संसद भवन आए तथा उन्होंने अपने चुनाव संबंधी दस्तावेज जमा करवाए।

उन्होंने कहा कि अब केंद्र में जब से भाजपा सरकार अस्तित्व में आई है तो पंजाब से ग्रांटों को देने के मामले में भेदभाव किया जा रहा है। कांग्रेसी सांसद एक स्वर से यह मामला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सामने उठाएंगे। उन्होंने कहा कि संसद में पंजाब के किसानों, व्यापारियों व उद्यमियों से हो रहे अन्याय का मामला भी उठाया जाएगा। किसान कर्जों के बोझ तले दबे हुए हैं। उद्योगों को केंद्र कोई आर्थिक पैकेज नहीं दे रहा है। उन्होंने राज्य में चल रही कार्पोरेशन चुनावों के संबंध में कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने शहरों के विकास के लिए अपना विजन डाक्यूमैंट जारी कर दिया हुआ है जिसमें शहरों के लिए मास्टर प्लान बनाने, जलापूर्ति व सीवरेज की सुविधाएं उपलब्ध करवाने तथा शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने का वायदा उन्होंने किया है।

कुछ बड़े विकास प्रोजैक्टों के लिए मुख्यमंत्री अमरेन्द्र ने ग्रांटें दे दी हैं।उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल पहले विधानसभा चुनाव, फिर गुरदासपुर लोकसभा सीट उप चुनाव हार चुका है जिस कारण अकाली दल की लीडरशिप बौखला चुकी है। उन्होंने सुखबीर को याद दिलाया कि जब वह उप मुख्यमंत्री थे तो उन्हें कानून व नियमों की पूरी जानकारी थी। उन्होंने कहा कि पुलिस ने पेशेवर ढंग से काम किया है तथा मुख्यमंत्री ने पुलिस को राज्य में कानून की पालना को यकीनी बनाने के निर्देश दिए हुए हैं। उन्होंने सुखबीर को सलाह दी कि अगर वह लम्बे समय तक राजनीति में बने रहना चाहते हैं तो अपनी सरकार के कार्यकाल के दौरान कांग्रेसियों पर की गई धक्केशाही के लिए जनता व कांग्रेस से सार्वजनिक रूप से माफी मांग ले। उन्होंने कहा कि कार्पोरेशन चुनाव में कांग्रेस आसानी से जीत हासिल कर लेगी तथा 3 शहरों में अपने मेयर बनाने में कामयाब होगी।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन