अकालियों ने जो कारनामे किए हैं उन पर शिकंजा देर-सवेर तो कसना ही है : जाखड़

  • अकालियों ने जो कारनामे किए हैं उन पर शिकंजा देर-सवेर तो कसना ही है : जाखड़
You Are HerePunjab
Friday, August 11, 2017-5:28 PM

जालंधर (धवन): पंजाब कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने अकालियों द्वारा कांग्रेस सरकार पर झूठे केस दर्ज करने के लगाए जा रहे आरोपों की तुलना चोर मचाए शोर से करते हुए कहा है कि अकालियों द्वारा पिछले 10 वर्षों में जो गुनाह किए गए हैं वह एक न एक दिन सामने तो आने ही है इसीलिए अपने गुनाहों पर पर्दा डालने के लिए वह कांग्रेस सरकार को बदनाम करने की कोशिशों में लगे हुए हैं।

उन्होंने आज कहा कि अकाली नेता बिक्रम मजीठिया द्वारा झूठे केसों को लेकर डी.जी.पी. से मुलाकात करने पर कोई मनाही नहीं है परन्तु एक तरफ तो एकाली नेतृत्व यह कह रहा है कि पंजाब में सरकार बाबुओं द्वारा चलाई जा रही है। अगर बाबुओं द्वारा सरकार चलाई जा रही है तो फिर अकाली कार्यकत्र्ताओं पर पर्चे कैसे दर्ज हो रहे हैं क्योंकि बाबुओं ने तो अकालियों के अधीन भी काम किया था इसलिए अकाली नेतृत्व के बयान अपने आप में विरोधाभास उत्पन्न कर रहे हैं। अगर राजनीतिक दखलअंदाजी नहीं है तो फिर अकाली कार्यकत्र्ताओं पर पर्चे कैसे दर्ज हो गए। जाखड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने स्पष्ट कहा है कि पुलिस अपना कार्य कानून के अनुसार कर रही है। उसके कामकाज में कोई राजनीतिक दखल नहीं है।

जाखड़ ने स्पष्ट किया कि कैप्टन ने शुरू में ही कह दिया था कि उनकी सरकार राजनीतिक द्वेष की भावना से काम नहीं करेगी परन्तु अगर अकालियों ने 10 वर्षों तक गुनाह किए हैं तो उनका हर्जाना तो अकालियों को देर-सवेर भुगतना ही पड़ेगा क्योंकि जस्ट्सि कुलदीप सिंह के नेतृत्व में पिछले 10 वर्षों में अकाली नेताओं द्वारा दर्ज करवाए गए झूठे केसों की जांच चल रही है। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कह दिया है कि इसमे जो भी लिप्त होगा उसके खिलाफ कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार का पुलिस में दखल नहीं है। अकालियों को तो अभी पिछले समय में कांग्रेसियों पर दर्ज किए गए झूठे केसों बारे अपना स्पष्टीकरण देना चाहिए।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You