श्री अकाल तख्त साहिब की तरफ से  जौहर सिंह तनखाहिया करार, बूटा सिंह को पंथ से निकाला

  • श्री अकाल तख्त साहिब की तरफ से  जौहर सिंह तनखाहिया करार, बूटा सिंह को पंथ से निकाला
You Are HerePunjab
Friday, October 13, 2017-11:58 PM

अमृतसर: जत्थेदार अकाल तख्त ज्ञानी गुरबचन सिंह के नेतृत्व में हुई पांच मुख्य सिख ग्रंथियों की एक बैठक के दौरान गुरूद्वारा छोटा घल्लूघरा ट्रस्ट के प्रमुख जौहर सिंह को ‘तनखाहिया’ (धार्मिक कदाचार का दोषी) घोषित कर दिया गया। बैठक यहां अकाल तख्त सचिवालय में हुई।  ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि बैठक में जौहर सिंह को सर्वसम्मति से ‘तनखाहिया’ घोषित करने का संकल्प लिया गया क्योंकि वह कई बार नोटिस भेजे जाने के बावजूद पांच मुख्य सिख ग्रंथियों के सामने पेश नहीं हुए।

 

जौहर सिंह को ‘तनखैया’ घोषित करने के बाद अकाल तख्त ने जौहर के प्रायश्चित के लिए मुख्य ग्रंथियों के सामने पेश होने तक सिख समुदाय से उनके सामाजिक बहिष्कार को कहा। गौरतलब है कि छोटा घल्लूघरा ट्रस्ट के एक वरिष्ठ पदाधिकारी को एक अगस्त को कथित रूप से गुरुद्वारे में एक महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा गया था। ट्रस्ट के प्रमुख होने के नाते जौहर सिंह को यह स्पष्ट करने के लिए तलब किया गया था कि उन्होंने अपने आरोपी सहकर्मी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!