पंजाब में गैंगस्टरों एवं गुंडा तत्वों का शासन : श्वेत मलिक

  • पंजाब में गैंगस्टरों एवं गुंडा तत्वों का शासन  : श्वेत मलिक
You Are HerePunjab
Thursday, October 19, 2017-1:41 PM

अमृतसर (महेन्द्र): राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्य शिक्षक एवं आर.टी.आई. सैल के संयोजक रविन्द्र गोसाईं की गत दिवस लुधियाना स्थित बस्ती जोधेवाल में उनके घर के बाहर ही मोटरसाइकिल सवार नकाबपोशों द्वारा हत्या किए जाने के खिलाफ स्थानीय भाजपा नेताओं एवं संघ परिवार ने कचहरी चौक में रोष-प्रदर्शन किया।

तत्पश्चात उन्होंने पंजाब में बिगड़ रही कानून व्यवस्था को लेकर डिप्टी कमिश्नर कमलदीप सिंह संघा को कैप्टन सरकार के खिलाफ ज्ञापन भी दिया। सांसद श्वेत मलिक ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। प्रदेश में गैंगस्टरों एवं गुंडा तत्वों का शासन चल रहा है जिसके खिलाफ हमें स्वयं खड़ा होना पड़ेगा। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तरुण चुघ ने कहा कि 1977 में जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद चरम पर था और देश विरोधी ताकतों का मुख्य लक्ष्य संघ के कार्यकत्र्ताओं पर हमला करना था। उन्हें भलीभांति मालूम था कि संघ के कार्यकत्र्ताओं पर हमला करने का मतलब राष्ट्रवादी सोच पर हमला करना है। 

 

असम में भी संघ के कई कार्यकत्र्ताओं पर हमले होते रहे हैं। पंजाब में आतंकवाद का दौर लंबे समय तक चला था जिसमें अंतत: हिन्दू-सिख भाईचारा ही सफल रहा था लेकिन प्रदेश में एक बार फिर आतंकवाद  जाग रहा है जिस पर अंकुश लगाने में पंजाब की मौजूदा सरकार विफल होती दिखाई दे रही है। भाजपा नेता राकेश गिल ने कहा कि इस तरह के आतंकी हमले कांग्रेस सरकार की सोची-समझी साजिश का परिणाम हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश हनी ने कहा कि भाजपा संघ कार्यकत्र्ताओं पर हमले किसी कीमत पर सहन नहीं करेगी। उन्होंने पंजाब सरकार से हत्यारों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की।  
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!