गवर्नमैंट कांट्रैक्टर के घर नौकरानी ने लगाया फंदा, गुस्साए परिजनों ने किया पथराव

  • गवर्नमैंट कांट्रैक्टर के घर नौकरानी ने लगाया फंदा, गुस्साए परिजनों ने किया पथराव
You Are HereLudhiana
Friday, October 13, 2017-9:48 AM

लुधियान(ऋषि): फिरोजपुर रोड, रणजीत नगर की गली नंबर-3 में रहने वाले गवर्नमैंट कांट्रैक्टर के घर 17 वर्षीय नौकरानी ने बुधवार रात पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर मोर्चरी में रखवा दिया। लेकिन परिजन बिना पोस्टमार्टम करवाए शव ले जाने की मांग को लेकर सारी रात घर के बाहर बैठे रहे। माहौल खराब होता देख ए.सी.पी. गुरप्रीत सिंह अपने 5 थानों की पुलिस पार्टी सहित मौके पर पहुंचे।

लेकिन वीरवार सुबह गुस्साए परिजनों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। मुंह पर ईंट लगने से थाना डिवीजन नं. 5 के प्रभारी इंस्पैक्टर विनोद कुमार लहूलुहान हो गए। उन्हें तुरंत उपचार के लिए डी.एम.सी. अस्पताल भर्ती करवाया गया। ईंट लगने से इंस्पैक्टर के 2 दांत टूट गए। ए.डी.सी.पी. सुरिंदर लांबा ने बताया कि मृतक नौकरानी की पहचान रोशनी (17) के रूप में हुई है, जो यहां न्यू शाम नगर इलाके में अपने भाई-बहनों के साथ रहती थी और मूल रूप से यू.पी. की रहने वाली थी। रोशनी 3 वर्षों से गवर्नमैंट कांट्रैक्टर गुरविंदर सिंह के घर काम कर रही थी। घर के ग्राऊंड फ्लोर पर पंजाब पुलिस का इंस्पैक्टर वरुणजीत रहता है जो पी.सी.आर. का जोन इंचार्ज हैं जबकि गुरविंदर सिंह फस्र्ट फ्लोर पर परिवार सहित रहता था। इंस्पैक्टर वरुणजीत सिंह गुरविंदर सिंह के जीजा हैं।

सैकेंड फ्लोर पर रोशनी का अलग रूम था। बुधवार रात 10 बजे गुरविंदर सिंह अपनी पत्नी के साथ पक्खोवाल रोड पर एक पार्टी में चला गया और जाते समय अपने 8 वर्षीय बेटे को इंस्पैक्टर वरुणजीत की पत्नी के पास छोड़ गया। रात 10 बजे खाना खाने के बाद रोशनी सोने के लिए अपने कमरे में चली गई। रात लगभग 12 बजे जब वरुणजीत की पत्नी बच्चे को नींद आने पर छोडऩे ऊपर गई तो नौकरानी के कमरे का दरवाजा खटखटाया लेकिन अंदर से कोई आवाज न आने से घबराकर पति को फोन किया जिन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम पर सूचना दी। इसके बाद थाना पी.ए.यू. की पुलिस मौके पर पहुंच गई। इसी दौरान गुरविंदर सिंह भी अपनी पत्नी सहित घर लौट आया। 

घर के अंदर किया घुसने का प्रयास 
गुस्साए परिजनों ने घर में घुसने का प्रयास किया तो मौके पर खड़े थाना डिवीजन नं. 5, थाना पी.ए.यू., थाना सराभा नगर और थाना डिवीजन नं. 8 की पुलिस पार्टी ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। इसी दौरान रोशनी के एक भाई ने इंस्पैक्टर पर ईंट से हमला कर दिया। पुलिस ने उसे कब्जे में ले लिया है। दूसरी तरफ इंस्पैक्टर विनोद कुमार अस्पताल में उपचाराधीन है। स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस को मामूली लाठीचार्ज भी करना पड़ा। 

भाई की मौजूदगी में खोला दरवाजा, बनाई वीडियो
ए.सी.पी. गुरप्रीत सिंह के अनुसार रोशनदान से देखने पर पता चल गया था कि रोशनी ने आत्महत्या की है लेकिन मामले की निष्पक्ष जांच के लिए कमरे का दरवाजा खोलने से पहले भाई को फोन कर बुलाया गया। उसी की मौजूदगी में दरवाजा तोड़कर पुलिस अंदर दाखिल हुई और सारे मामले की वीडियो बनाई गई। 
मृतका के भाइयों ने दुष्कर्म कर हत्या कर लगाया आरोप :मौके पर पहुंचे भाई-बहनों ने आरोप लगाया कि उनकी बहन से पहले दुष्कर्म किया गया और बाद में उसकी हत्या कर शव पंखे से लटका दिया गया। आरोप लगाने वालों में भाई उदेश, सुशील, कमल किशोर, विमलेश व बहनें सरस्वती, मोहनी, सुमन, माधुरी व किरण थीं। उन्होंने कहा कि मामले की जांच होनी चाहिए और उसकी बहन के हत्यारों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!