‘10 वर्ग किलोमीटर में फैले शहर की सुरक्षा राम भरोसे’

  • ‘10 वर्ग किलोमीटर में फैले शहर की सुरक्षा राम भरोसे’
You Are HerePunjab
Friday, August 11, 2017-11:31 AM

कपूरथला(भूषण): सिर्फ 30 पुलिस कर्मियों के कंधों पर है 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले कपूरथला शहर के सुरक्षा की जिम्मेदारी। वर्ष 1988 में कपूरथला के लिए अलग से बनाए गए थाना सिटी कपूरथला में पुलिस फोर्स की कमी इस हद तक हावी हो चुकी है कि विभाग द्वारा सैक्शंड 110 पुलिस कर्मचारियों व अधिकारियों के मुकाबले वर्तमान दौर में सिर्फ 30 पुलिस कर्मचारी ही जनरल ड्यूटी पर काम कर रहे हैं। जो कहीं न कहीं कपूरथला शहर की सुरक्षा को लेकर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है।

आतंकवाद के दौरान थाना कोतवाली से अलग कर बनाया गया था थाना सिटी कपूरथला
आतंकवाद के दौरान वर्ष 1988 में पुरानी पुलिस लाइन की इमारत में थाना सिटी कपूरथला की स्थापना की गई थी। इससे पहले कपूरथला शहर की सुरक्षा की जिम्मेदारी थाना कोतवाली पुलिस के कंधों पर थी। कपूरथला शहर की आबादी 30,000 से ऊपर चले जाने के कारण अलग से थाना सिटी की स्थापना की गई, लेकिन अब शहर की आबादी 1.20 लाख तक पहुंचने के बावजूद भी पुलिस कर्मियों की संख्या में कोई खास बढ़ौतरी नहीं हो पाई है। 

1500 पैंडिंग फाइलों से जूझ रहा है थाना सिटी कपूरथला
जिले के सबसे संवेदनशील थानों में शुमार होने वाला थाना सिटी कपूरथला में पुलिस फोर्स की भारी कमी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि थाने में इस समय 1500 के लगभग पैंडिंग फाइलों का अम्बार जमा हो गया है। जिनका चालान लम्बे समय से अदालतों में पेश न होने के कारण जहां ये फाइलें बीच भंवर में फंस गई हैं। वहीं पीड़ित पक्ष को इंसाफ भी नहीं मिल पा रहा है। 

कागजों में 74 पुलिस कर्मी, ड्यूटी पर हैं सिर्फ 30 
थाना सिटी कपूरथला में पुलिस फोर्स की भारी कमी का सबसे बड़ा सबूत यहां कागजों में काम कर रहे 74 पुलिस कर्मियों के मुकाबले सिर्फ 30 पुलिस कर्मियों के जनरल ड्यूटी पर होना है। आंकड़ों के अनुसार सिटी पुलिस के रिकार्ड मुताबिक तैनात 74 पुलिस कर्मियों में से 15 उच्चाधिकारियों, 5 कचहरी कॉम्पलैक्स व 20 अन्य पुलिस कर्मियों के दूसरे विंगों में टैम्परेरी तौर पर तैनात होना भी फोर्स की कमी में अहम भूमिका निभा रहा है, जिस कारण सिर्फ 30 पुलिस कर्मी ही ऑन रिकार्ड जनरल ड्यूटी कर रहे हैं। 

कई बार उठ चुकी है थाना सिटी-2 बनाने की मांग
कपूरथला शहर की सेवाएं काफी दूर तक पहुंचने व कई बड़ी कालोनियों के विकसित होने के कारण शहर को पूरी तरह से अपराध मुक्त बनाने के मकसद से वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने कई बार शहर में अलग से थाना सिटी-2 बनाने की बात की, ताकि शहर को आधा-आधा बांट कर इसकी सुरक्षा को और भी मजबूत किया जा सके। फिलहाल यह योजना भी कागजों में नजर आ रही है, जिस कारण सिर्फ एक थाना सिटी के लिए इतने बड़े शहर की सुरक्षा करना एक बड़ी चुनौती बन गया है। 

क्या कहते हैं एस.एस.पी.
इस संबंध में जब एस.एस.पी. संदीप शर्मा से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि थाना सिटी कपूरथला में गत कुछ महीनों के दौरान काफी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। अब आने वाले दिनों में पुलिस कर्मियों की संख्या को और भी बढ़ाया जाएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!