सज्जन से प्रशासन ने नहीं दिखाई सज्जनता

  • सज्जन से प्रशासन ने नहीं दिखाई सज्जनता
You Are HerePunjab
Friday, April 21, 2017-8:50 AM

जालंधर/होशियारपुर  (रमन सोढी, अमरेन्द्र): भारत दौरे पर आए कनाडा के पहले पंजाबी सिख रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन वीरवार को दोपहर 3 बजे के करीब अपने पैतृक गांव बंबेली पहुंचे। 
इस दौरान भीड़ अधिक होने के कारण उन्हें 15 मिनट तक गाड़ी में बैठकर ही भीड़ कम होने का इंतजार करना पड़ा। इसके बाद वह गाड़ी से उतरे और सीधेे अपने घर चले गए। इस दौरान यह भी बात सामने आई कि रक्षा मंत्री के साथ आई सिक्योरिटी पुलिस प्रशासन द्वारा किए गए प्रबंधों से संतुष्ट नजर नहीं आई, जिस कारण हरजीत सिंह सज्जन को उनकी गाड़ी से उतरने नहीं दिया गया।  

इस दौरान गांव के प्रवेश द्वार से ही गांव के लोगों ने बैंडबाजे, ढोल की थाप और गांव के गबरूओं ने भंगड़ा डालते हुए उनका जोरदार स्वागत तो किया लेकिन सज्जन से मिलने और उनकी बात सुनने की गांव वालों की मंशा पूरी नहीं हो सकी। हैरानी वाली बात तो यह रही कि प्रोटोकाल के तहत भी होशियारपुर पहुंचने पर न तो डी.सी. और न ही एस.एस.पी. दिखाई दिए। रस्मी तौर पर गढ़शंकर के एस.डी.एम. जरूर दिखाई दिए।


सुरक्षा कारणों के चलते उनके कनाडाई सुरक्षा अधिकारियों ने उन्हें न तो स्वागती पंडाल में जाने दिया और न ही किसी से मिलने दिया। यही नहीं इस दौरान गर्म ख्याली दल के नेता बार-बार नारेबाजी कर उनका ध्यान अपनी तरफ खींचने का प्रयास करते दिखे पर उन्होंने एक बार भी नजर उठा कर उनकी तरफ नहीं देखा। यही नहीं बार-बार मीडियाकर्मी उनसे बात करने की कोशिश करते लेकिन कनाडाई सुरक्षा अधिकारियों ने साफ कर दिया कि वह अपने पारिवारिक सदस्यों के अलावा किसी से भी बात नहीं करेंगे। कनाडा के रक्षा मंत्री का दौरा ऑफीशियल नहीं है : डी.सी. कनाडा के रक्षा मंत्री हरजीत सिंह सज्जन के स्वागत के लिए हमें ऑफीशियली कोई निर्देश नहीं मिला था क्योंकि बंबेली गांव आने का उनका यह निजी दौरा था, फिर भी हमने एस.डी.एम. गढ़शंकर की ड्यूटी लगा रखी है। रात को वह बंबेली गांव में ही रुकेंगे, इसको ध्यान में रख कर सुरक्षा प्रबंधों को मजबूत कर दिया गया है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!