नए साईन बोर्डों में पंजाबी बनेगी पहली भाषा

  • नए साईन बोर्डों में पंजाबी बनेगी पहली भाषा
You Are HerePunjab
Wednesday, November 15, 2017-2:55 PM

बठिंडाः अमृतसर राष्ट्रीय मार्ग पर लगे नए साईन बोर्डों में अब पंजाबी भाषा पटरानी बनेगी। इन साईन बोर्डों पर हिंदी भाषा नहीं दिखेगी। नए साईन बोर्डों में पंजाबी और अंग्रेजी भाषा के ही दर्शन होंगे, जबकि पंजाबी सबसे ऊपर होगी। 

राजस्थान में नए साईन बोर्डों के निर्माण का काम शुरू हो चुका है और इन्हें 31 दिसंबर तक पुराने बोर्डों के साथ तबदील कर दिया जाएगा।


जानकारी अनुसार लोकनिर्माण विभाग ने दो दिन पहले सड़क बनाने वाली कंपनी के आधिकारियों के साथ मीटिंग की जिस में नए साईन बोर्ड सिर्फ पंजाबी और अंग्रेजी भाषा में लिखने के अादेश दिए गए हैं।  राष्ट्रीय मार्ग पर लगे साईन बोर्डों में पंजाबी को पहले तीसरे नंबर पर रखा हुआ था, जिससे काफ़ी कोलाहल पड़ा था। 


मालवा यूथ फैडरेशन के प्रधान लक्खा सधाना के नेतृत्व में नौजवानों ने इन बोर्डों पर कालिख पोथ दी थी। इसके बाद  बठिंडा पुलिस ने लक्खा सधाना और बाबा हरदीप सिंह खिलाफ केस दर्ज करके जेल भेज दिया था। लोकनिर्माण विभाग ने अब नए फैसले के अंतर्गत हिंदी भाषा को नए साईन बोर्डों से बाहर कर दिया है। बठिंडा -अमृतसर मार्ग पर 120 किलोमीटर के दायरे वाले साईन बोर्ड तबदील होने हैं।   बठिंडा जीरकपुर सड़क मार्ग पर जो साईन बोर्ड लगे हैं, उनमें पंजाबी भाषा पर है और नीचे अंग्रेजी भाषा है। 

 

बठिंडा-अमृतसर राष्ट्रीय मार्ग पर नोडल अधिकारी अंग्रेज सिंह ने कहा कि नए साईन बोर्ड बनाने का काम शुरू हो गया है और जल्दी ही सड़कों पर नए बोर्ड नजर अाएंगे। लोकनिर्माण विभाग के मुख्य इंजनियर ए.के.सिंगला ने कहा कि 31 दिसंबर तक सभी साईन बोर्ड तबदील हो जाएंगे। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!