पंजाब सरकार केंद्र की योजनाओं को नहीं कर रही लागू: हरसिमरत

  • पंजाब सरकार केंद्र की योजनाओं को नहीं कर रही लागू: हरसिमरत
You Are HerePunjab
Friday, August 18, 2017-2:54 AM

जालंधर(बुलंद): केंद्रीय फूड प्रोसैसिंग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने आज स्थानीय होटल में किसानों और उद्योगपतियों के साथ केंद्रीय योजना सम्पदा बारे चर्चा की। उन्होंने प्रैस कांफ्रैंस दौरान कहा कि केंद्र सरकार ने पंजाब के किसानों के लिए कई अहम योजनाएं बनाई हैं, पर पंजाब की कांग्रेस सरकार इन योजनाओं को लागू नहीं कर रही। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के ये आरोप गलत हैं कि अकाली दल के समय में किसान ज्यादा खुदकुशियां करते थे। डाटा निकाल कर देखो कि अकाली दल के राज में कब 150 दिनों में 200 किसानों ने आत्महत्या की थी। किसानों के  कर्ज माफी के मुद्दे पर कांग्रेस बुरी तरह फेल रही है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में करवाए जाने वाले वल्र्ड फूड फैस्टीवल के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने की आखिरी तारीख 17 सितम्बर है पर पंजाब ने आज तक रजिस्ट्रेशन नहीं करवाई। इस इवैंट के लिए 70 फीसदी बुकिंग हो चुकी है। उन्होंने कहा कि लंगर पर जी.एस.टी. मामले में संबंधित राज्य के वित्त मंत्री को जी.एस.टी. कौंसिल में प्रश्न उठाना चाहिए और इस मामले में पंजाब के वित्त मंत्री आवाज उठाने में पीछे दिखाई दे रहे हैं। 

इस मौके फूड प्रोसैसिंग विभाग की सम्पदा स्कीम बारे हरसिमरत ने कहा कि यह किसानों और उद्योगपतियों के लिए बेहद लाभप्रद योजना है और इसमें 35 प्रतिशत सबसिडी केंद्र सरकार देगी। अगर इस योजना के तहत पंजाब में यूनिट लगते हैं तो इससे पंजाब की फसलों की बर्बादी रुकेगी और किसानों को अपनी फसलों जैसे आलू व गेहूं को सड़कों पर नहीं फैंकना पड़ेगा। उद्योगपति महज 20 फीसदी लागत के साथ यूनिट शुरू कर पाएंगे बाकी का 80 फीसदी लोन केंद्र सरकार द्वारा करवाकर दिया जाएगा। इस मौके पर अजीत सिंह कोहाड़, सर्बजीत सिंह मक्कड़, के.डी. भंडारी, गुरप्रताप सिंह वडाला, बलदेव खैहरा, सेठ सतपाल मल्ल, गुरचरण सिंह चन्नी, परमजीत रायपुर, अमरजीत सिंह कथूरिया, रमेश शर्मा आदि भी मौजूद थे।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!